राज्यसभा में रोकेंगे भाजपा को: आजाद

Monday, June 23, 2014

A A

गुलाम नबीं आजाद

नई दिल्ली | एजेंसी: राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद का कहना है कि कांग्रेस ऊपरी सदन में पार्टियों को एकजुट कर नरेंद्र मोदी सरकार का विरोध करेगी.

आजाद ने एक साक्षात्कार के दौरान कहा, “राज्यसभा में हमारी संख्या अच्छी है. कांग्रेस गैर भाजपा, गैर राजग पार्टियों के साथ एकजुट होगी और उन विधेयकों को पारित नहीं होने देगी जो लोगों के हित में नहीं है और जो सत्तारूढ़ गठबंधन के तानाशाही रवैये को पेश करते हैं.”

विपक्ष के नेता ने कहा, “कांग्रेस राज्यसभा में केंद्र सरकार की तानाशाही भरे विधेयकों का विरोध करेगी.”

बजट सत्र की शुरुआत संभवत: जुलाई के दूसरे सप्ताह में होगी. उसी दौरान सरकार रेल बजट और आम बजट पेश के अलावा कुछ महत्वपूर्ण विधेयक पेश करेगी.

545 सदस्यीय लोकसभा में राजग के 336 सदस्य हैं, जबकि भाजपा के पास सदन की आधी से 10 सीट ज्यादा यानी 282 मौजूद हैं. कांग्रेस के पास राज्यसभा की 245 में से 67 सीटें हैं. राज्यसभा में बहुमत के लिए यह वामपंथी, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का संभवत: सहयोग ले सकता है, जिनके पास क्रमश: 11,9 और 14 सीटें हैं.

जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री आजाद अक्सर कांग्रेस के संकट के दौरान काम आए हैं. वह भाजपा पर आरोप लगाते हैं कि यह क्षेत्रीय पार्टियों विशेषकर एआईएडीएमके को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस कदम को विफल करने के लिए तैयार है.

आजाद ने कहा, “जयललिता उनकी रणनीति को कामयाब नहीं होने देंगी. वह अनुभवी खिलाड़ी हैं और हर मिजाज के प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुकी हैं. कांग्रेस कभी भी भाजपा को सदन में बहुमत के लिए छोटी पार्टियों से सहयोग नहीं लेने देगी.”

पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री आजाद ने भाजपा पर आरोप लगाया कि यह अनियंत्रित शक्तियों को मजबूत करने की कोशिश कर रही है और इसके एक महीने के कार्यकाल में इसके ‘न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन’ का एजेंडा सिर्फ एक हथकंडा साबित हुआ है.

Tags: , , , , ,