नोटबंदी सरकार की सलाह पर- RBI

Tuesday, January 10, 2017

A A

नोटबंदी का असर

नई दिल्ली | संवाददाता: रिजर्व बैंक ने संसद की वित्तीय मामलों की कमेटी को बताया है कि सरकार की सलाह पर नोटबंदी की अनुशंसा की गई थी. इससे सरकार के उस दावे पर सवालिया निशान लग गये हैं जिसमें कहा गया था कि रिजर्व बैंक ने नोटबंदी की अनुशंसा की थी. कांग्रेस नेता एम वीरप्पा मोइली की अध्यक्षता में संसद की वित्तीय मामलों की कमेटी के सामने 7 पन्नों के नोट में आरबीआई ने कहा कि सरकार ने 7 नवंबर 2016 को सलाह दी थी कि जालसाजी, आतंकियों को मिलने वाले वित्तीय मदद और ब्लैक मनी को रोकने के लिए सर्वोच्च बैंक का सेंट्रल बोर्ड को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट को हटाने पर विचार करना चाहिये. सरकार की इस सलाह के अगले ही दिन देश के इस सर्वोच्च बैंक के बोर्ड ने नोटबंदी की अनुशंसा कर दी थी.

सरकार की ‘सलाह’ पर विचार करने के लिए आरबीआई के सेंट्रल बोर्ड की बैठक हुई. बैठक में सरकार की सलाह पर विचार करने के बाद केंद्र सरकार को 500 और 1000 रुपये पुराने नोट को बंद करने की अनुशंसा की गई. इसके कुछ घंटों बाद ही 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट बंद करने की अनुशंसा कर दी. फैसले के बाद कुछ मंत्रियों ने कहा था कि सरकार ने आरबीआई की अनुशंसा पर नोटबंदी का फैसला किया था.

Tags: , , , ,