माँ-बेटे चला रहे केंद्र सरकार: मोदी

Friday, April 18, 2014

A A

नरेंद्र मोदी

बैतूल | एजेंसी: नरेंद्र मोदी ने कहा है कि पिछले 10 वर्षो में देश में मां-बेटा (सोनिया गांधी और राहुल गांधी) की सरकार चली है. उन्होंने कहा कि पिछले दस सालों में इस सरकार ने देश को गहरे गड्ढे में उतार दिया है.

मध्य प्रदेश के बैतूल में भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में आयोजित जनसभा में मोदी ने कहा कि कांग्रेस की रगों में भ्रष्टाचार है. वह हर स्तर पर भ्रष्टाचार में लिप्त है, सच्चाई तो यह है कि उसके खून में ही भ्रष्टाचार है. इस भ्रष्टाचार और घोटालों ने विकास की गाड़ी को पटरी से उतार दिया है.

मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा भ्रष्टाचार को लेकर दिए गए बयान का हवाला देते हुए कहा कि उस समय तो पूरे देश में पंचायत से लेकर केंद्र तक में कांग्रेस की ही सरकार थी, फिर क्या बात थी कि दिल्ली से भेजा गया एक रुपया घिसकर 12 पैसे रह जाता था. कौन सा पंजा था जो इस रुपये को घिस देता था?

उन्होंने आगे कहा कि छह दशकों तक कांग्रेस ने देश को वायदे और नारे देकर छला है. देश में गरीबी, बेरोजगारी, महंगाई, भ्रष्टाचार का बोलबाला हुआ है और कांग्रेस तटस्थ दर्शक बनकर रह गई है. देश की जनता ने 60 वर्षो तक कांग्रेस के शासकों को बर्दाश्त किया है, नरेंद्र मोदी 60 माह चाहता है. शासकों को जिस तरह छह दशक दिए हैं, अब सेवकों को 60 माह देकर नतीजों का इंतजार कर लें.

उन्होंने भरोसा दिलाया कि भाजपा केंद्र की सत्ता में आने पर आम आदमी से सरोकार रखेगी. गांव, गरीब और किसान की हालत सुधरेगी. महंगाई और भ्रष्टाचार से जनता को मुक्ति दिलाई जाएगी, क्योंकि सिर्फ भाजपा ही दूध में धुली पार्टी है. जिन राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं, वहां रत्तीभर भी भ्रष्टाचार नहीं है.

मोदी ने कहा कि आजादी के बाद जब-जब चुनाव आते हैं, कांग्रेस को गरीबी और आदिवासी की याद आती है. सत्ता संभालते ही उन्हें सिर्फ कुर्सी दिखती है. आदिवासियों की दीन-दशा के लिए सिर्फ कांग्रेस उत्तरदायी है. आदिवासी अंचल की जनता कांग्रेस को इसकी माकूल सजा देगी और इस चुनाव में कांग्रेस का सफाया कर देगी.

उन्होंने कहा कि देश में आजादी के बाद पहली बार जब गैर कांग्रेसी सरकार अटलजी के नेतृत्व में दिल्ली में बनी थी, तब प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने आदिवासियों के जीवन की कठिनाइयों को दूर करने के लिए दूरदृष्टि से काम आरंभ किया था. वनभूमि पर अधिकार पत्र देने की योजना का श्रीगणेश किया था. देश में अलग से अनुसूचित जनजाति के लिए मंत्रालय को बनाया गया था.

मोदी ने कहा कि कांग्रेस को आदिवासियों से वोट मांगने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है. आदिवासी अब कांग्रेस पर ऐतबार करने वाले नहीं हैं. उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की जनता भली भांति जानती है कि यदि 2003 में जनता ने भाजपा के पक्ष में जनादेश नहीं दिया होता तो मध्यप्रदेश की भी वही हालत होती जो आज कांग्रेस ने देश की कर दी है.

इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने भी अपने प्रदेश में विकास और सुशासन जैसी उपलब्धियों का बखान किया और कहा कि मोदी के नेतृत्व में देश में सरकार का गठन मध्यप्रदेश के चहुंमुखी विकास किसान और मजदूरों की खुशहाली की गारंटी बनेगी.

Tags: ,