‘फ्रीडम 251′ सेंचुरी का घोटाला

Friday, February 26, 2016

A A

फ्रीडम 251-स्मार्टफोन

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: कांग्रेस ने राज्यसभा में ‘फ्रीडम 251′ को सहस्राब्दी का सबसे बड़ा घोटाला कहा है. कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी के शासन में मात्र 251 रुपये में स्मार्टफोन देने की योजना ‘सहस्राब्दी का सबसे बड़ा घोटाला’ है. तिवारी ने कंपनी द्वारा एकत्र की गई धनराशि को सुरक्षित रखने की मांग की है.

कांग्रेस सांसद ने राज्यसभा में कहा कि सरकार को ‘फ्रीडम 251′ के फोनों से जुड़ी धोखाधड़ी के तथ्यों को स्पष्ट करने की जरूरत है.

रिंगिंग बेल्स ने ‘फ्रीडम 251′ स्मार्टफोन लांच किया है, जिसका कहना है कि उसे इस योजना के लिए सरकार से ‘समर्थन’ मिला है.

कंपनी के अध्यक्ष अशोक चड्ढा ने कहा है कि कंपनी इसके लिए ऑनलाइन पंजीकरण कराने वाले लोगों को 25 लाख ‘फ्रीडम 251′ फोन देगी.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले सोसिएटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया की उत्तर प्रदेश इकाई ने सिर्फ 251 रुपये में स्मार्टफोन देने वाली कंपनी रिंगिंग बेल्स के खिलाफ अपनी अर्जी दाखिल की है. इनका दावा है कि कंपनी धोखा कर रही है.

एसोचैम उत्तर प्रदेश ने कहा कि फ्रीडम 251 के मामले में उसने शुक्रवार को लखनऊ में हजरतगंज के पुलिस अधीक्षक को एक अर्जी दी है. एसोचैम के उपाध्यक्ष संदीप सक्सेना ने अपनी इस अर्जी में फ्रीडम 251 मोबाइल की बिक्री के नाम पर धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है.

इस अर्जी में लिखा गया है कि जिन फीचर्स को 251 रुपये में देने की बात की जा रही है, वैसा फोन 3,000 रुपये से कम कीमत में नहीं बनाया जा सकता.

Tags: , , , , , ,