छत्तीसगढ़ को पांच रेलगाड़ियां

Wednesday, February 27, 2013

A A

रेलवे

रायपुर: मंगलवार को पेश देश के रेल बजट में छत्तीसगढ को पांच नई गाड़ियों की सौगात देने की बात कही गई है तथा यहां से रवाना होने और गुजरने वाली दो गाड़ियों को विस्तार दिया गया है. रेलमंत्री पवन कुमार बंसल द्वारा संसद में पेश रेल बजट में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में भुवनेशवर-हजरत निजामुद्दीन एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया सम्बलपुर, दुर्ग-जयपुर एक्सप्रेस साप्ताहिक, पुरी-सांई नगर शिर्डी एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया सम्बलपुर, टिटलागढ, रायपुर, नागपुर,भुसावल, पुरी-अजमेर एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया आबू रोड तथा विशाखापट्टनम-जोधपुर एक्सप्रेस साप्ताहिक वाया टीटलागढ-रायपुर शामिल है.

रेल बजट के मुताबिक दुर्ग-छपरा एक्सप्रेस विस्तारित होने के बाद गोंदिया से मुजफ्फरपुर तक चलने लगेगी. इसी प्रकार लोकमान्य तिलक टर्मिनल-भुवनेश्वर एक्सप्रेस को पुरी तक बढ़ाया गया है. रेल बजट में सरकार के राष्ट्रीय कौशल विकास कार्यक्रम के तहत 25 स्थानों पर रेल संबंधी व्यवसायों के लिए प्रशिक्षण केन्द्र खोले जाने का प्रस्ताव किया गया है जिनमें मध्यप्रदेश का रतलाम और छत्तीसगढ़ का आदिवासी बहुल जगदलपुर शामिल है.

बजट में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के कलमना-नागपुर और टेंगनमाड़ा-खोंगसरा के बीच रेल लाइन के दोहरीकरण किए जाने का भी प्रस्ताव शामिल है. इसके अलावा निजी सार्वजनिक सरकारी साझेदारी के तहत छत्तीसगढ के भूपदेवपुर-रायगढ मांड कालरी और गेवरारोड-पेंड्रा रोड तथा सामाजिक आर्थिक आधार पर 182 किलोमीटर लंबे बरवाडीह-चिरीमिरी और रायपुर-झारसुगडा 310 किमी लाइन के निर्माण का भी प्रस्ताव किया गया है.

इसके अलावा अम्बिकापुर-गढवा, बालाघाट-भारवेली-उकवा, जयसिंह नगर-शहडोल और साजा-भाटापारा के बीच नई रेल लाइनों का सर्वेक्षण किया जाएगा. बजट में रेल यात्रियों जन सुविधाओं के मद्देनजर एसईसीआर मुख्यालय के बिलासपुर स्टेशन पर रेल नीर बाटलिंग प्लांट और एक्जिक्युटिव लाउंज की स्थापना के साथ जोन के बिलासपुर, रायपुर एवं नागपुर मंडल मुख्यालयों पर अकेली रहने वाली रेलवे कर्मचारियों के लिए हास्टल सुविधाओं का भी प्रस्ताव किया गया है.

Tags: , , , ,