मंगल ग्रह में मानव पहले से!

Friday, November 28, 2014

A A

Mars

न्यूयॉर्क | एजेंसी: अमरीका की नासा के एक पूर्व कर्मचारी जैकी का कहना है कि उसने 1979 में मंगल ग्रह पर दो मानव के समान प्राणी देखे थे. जैकी की बात को वैज्ञानिक हल्कों में गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है परन्तु उनके बयान ने सनसनी जरूर फैला दी है. गौरतलब है कि नासा सहित दुनिया की दूसरे देशों के अंतरिक्ष कार्यक्रमों के तहत दुनिया के परे भी क्या जीवन है उस पर खोज लंबे समय से जारी है. राष्ट्रीय वैमानिकी एवं अंतरिक्ष प्रशासन की इस पूर्व कर्मचारी ने 1979 में मंगल ग्रह पर दो मानवों को देखने का दावा किया है. यह दावा उन्होंने विकिंग मार्स लेंडर द्वारा भेजी गई तस्वीरों के आधार पर किया है. इंटरनेशनल बिजनेस टाइम्स की रपट के मुताबिक, जैकी नामक उस महिला ने अमरीका की कॉस्ट टू कॉस्ट एम रेडियो स्टेशन को कथित रूप से मंगल ग्रह पर दो लोगों को टहलते देखने का दावा किया है.

उन्होंने रेडियो प्रस्तोता को कथित तौर पर बताया कि 1979 में वह विकिंग लैडर की टेलिमेटरी को संभाल रही थीं.

अखबार ने महिला के हवाले से कहा, “पुराना विकिंग रोवर चारों ओर घूम रहा था. तब मैंने दो लोगों को अंतरिक्ष सूट में देखा. उन्होंने कोई भारी भरकम नहीं, बल्कि एक साधारण सूट पहन रखा था. वे विकिंग एक्सप्लोरर के समीप आए.”

उन्होंने कहा, “उन लोगों ने जो सूट पहन रखा था, वह वैसा नहीं था जैसा अंतरिक्षयात्री पहनते हैं.”

जैकी ने रेडियो प्रस्तोता से कहा, “हमलोग वहां आधा दर्जन की संख्या में मौजूद थे और उपकरण की देखरेख कर रहे थे. इसके बाद उन्होंने हमारे वीडियो फीड का संपर्क तोड़ दिया.”

हालांकि नासा ने अभी तक उनके दावे की पुष्टि नहीं की है.

उल्लेखनीय है कि विकिंग एक्सप्लोरर मंगल ग्रह की तस्वीरें भेजने वाला पहला यान है.

विकिंग 1 को 20 अगस्त, 1975 में, जबकि विकिंग 2 को नौ सितंबर, 1975 में छोड़ा गया था.

Tags: , , , ,