छत्तीसगढ़ का दौरा करेगी निर्वाचन आयोग की टीम

Thursday, August 22, 2013

A A

निर्वाचन आयोग

रायपुर: नवंबर महीने में प्रस्तावित छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों को लेकर निर्वाचन आयोग ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. चुनाव की तैयारियों का अंतिम जायजा लेने मुख्य निर्वाचन आयुक्त बी.एस. संपत्त दल-बल समेत 29 अगस्त को रायपुर आ रहे हैं. माना जा रहा है कि स्थिति की समीक्षा के बाद संपत्त सितंबर के तीसरे सप्ताह चुनाव की तिथियों का ऐलान करेंगे.

राज्य के मुख्य निर्वाचन कार्यालय के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, चुनाव की तिथियों के ऐलान से पहले मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने चुनावी राज्यों का दौरा करना तय किया है. संपत सबसे पहले 29 अगस्त को छत्तीसगढ़ आ रहे हैं. उनका यह दौरा दो दिवसीय होगा.

संपत के साथ दोनों आयुक्त एच.एल. ब्रह्मा, नसीम जैदी, छत्तीसगढ़ के प्रभारी उपायुक्त सुधीर त्रिवेदी सहित आयोग के दर्जन भर अधिकारी भी आएंगे. अब तक प्राप्त अपुष्ट कार्यक्रम के अनुसार, टीम सीआईसी पहले राज्य के सीईओ सुनील कुजूर व मातहतों के साथ तैयारियों को परखेंगे.

सूत्रों के मुताबिक, मुख्य सचिव सुनील कुमार, डीजीपी रामनिवास के साथ बैठक कर चुनाव के लिए आवश्यक सुरक्षा बल, मतदान कर्मियों, मतदान सामग्री जैसे विषयों पर चर्चा करेंगे. इस बैठक में तीन वर्षो से एक ही स्थान पर पदस्थ अधिकारियों के तबादले की स्थिति, मतदाता पहचान पत्र वितरण, स्विप सिस्टम तथा अद्यतन मतदाता सूची की भी जानकारी ली जाएगी.

राज्य के सीईओ कार्यालय का दावा है कि अब तक 99 प्रतिशत मतदाता कार्ड तैयार कर उसमें से 99 प्रतिशत कार्ड वितरित किए जा चुके हैं. चुनावी तैयारियों में किसी तरह की ढिलाई उजागर होने पर आयोग किसी भी आला अफसर पर कार्यवाही कर सकते हैं.

संपत राज्य के राजनीतिक दलों व जनसंगठनों के प्रतिनिधियों और पत्रकारों से भी चर्चा करेंगे. दिल्ली लौटने पर आयोग द्वारा सितंबर के तीसरे सप्ताह में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर दी जाएगी.

समझा जा रहा है कि राज्य में वर्ष 2008 की तरह दो चरणों में चुनाव कराए जा सकते हैं. चुनावी तिथियां नवंबर के अंतिम सप्ताह की हो सकती है. बहरहाल चुनाव आचार संहिता लगने को लेकर भी शासकीय विभागों में चर्चा शुरू हो गई है.

एसपी राम गोपाल गर्ग के निर्देश पर पुलिस की सर्चिग के दौरान आरोपी पकड़ में आए हैं. क्षेत्र के कई लोग नक्सलियों को सहयोग कर रहे हैं. उन पर पुलिस की नजर है. पुलिस का अभियान ऐसे लोगों को बेनकाब करने का है.

Tags: , ,