‘कांग्रेस को देशभक्ति का पाठ न पढ़ाये’

Monday, February 15, 2016

A A

रणदीप सिंह सुरजेवाला

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: जेएनयू मुद्दे पर राहुल की अमित शाह द्वारा की गई आलोचना पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया की है. पार्टी ने कहा है कि उसे देशभक्ति का पाठ उन लोगों से नहीं पढ़ना है, जो महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की विचारधारा के वारिस हैं. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां संवाददाताओं से कहा, “जिन्होंने महात्मा गांधी की विचारधारा की हत्या की और जो नाथूराम गोडसे की विचारधारा के वारिस हैं, उन्हें कांग्रेस और देश को देशभक्ति की नई परिभाषा पढ़ाने की जरूरत नहीं है.”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का इतिहास आतंकवाद से लड़ाई का रहा है. पार्टी नेताओं ने देश की एकता और अखंडता के लिए जान की कुर्बानियां दी हैं.

कांग्रेस प्रवक्ता ने मोदी सरकार पर युवाओं और छात्रों की आवाज दबाने का आरोप लगाया.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जिस किसी ने भी जेएनयू में गलत हरकत की है, उसे सजा मिलनी चाहिए. लेकिन, “यह बिल्कुल भी सही नहीं है कि मोदी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वाला राष्ट्र विरोधी है.”

सुरजेवाला ने कहा, “देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का यही विचार है.”

उन्होंने कहा कि सरकार को अपने खिलाफ आवाज उठाने वालों का दमन करने के बजाए शासन पर ध्यान देना चाहिए.

अमित शाह ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि कोई भी नागरिक आतंकवादी की पक्षधरता और देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में राष्ट्र विरोधी नारों को कबूल नहीं सकता.

शाह ने लिखा, “लेकिन, राहुल गांधी और उनकी पार्टी के सहयोगियों ने परिसर में जिस तरह के बयान दिए, उससे साफ है कि इनकी सोच में राष्ट्रहित नहीं है.”

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी के बाद से जेएनयू में तनाव बना हुआ है. नौ फरवरी की रात संसद हमले के दोषी अफजल गुरु और जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के सह संस्थापक मकबूल बट को दी गई फांसी की बरसी पर जेएनयू में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ था. कहा जा रहा है कि कार्यक्रम में कथित रूप से देश विरोधी नारे लगाए गए थे.

दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को देशद्रोह का मामला दर्ज कर कन्हैया कुमार को गिरफ्तार कर लिया. कुमार ने देश विरोधी नारे लगाने से इनकार किया है. उन्हें शुक्रवार को तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था.

Tags: , , , ,