नजरअंदाज करने की भूल: उमर

Sunday, December 8, 2013

A A

उमर अब्दुल्ला

नई दिल्ली | एजेंसी: जम्मू और कश्मीर के मुख्यमंत्री ने कहा है कि राजनीति में किसी नये आये को नजरअंदाज नही करना चाहिये. उनका इशारा दिल्ली विधानसभा में आम आदमी पार्टी को मिले सीटों पर था. मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और दिल्ली विधानसभा चुनावों में हुए मतों की गणना शुरू होते ही उमर ने ट्विटर पर लिखा “चुनाव परिणाम आने शुरू हो गए हैं, इसके रुझान और परिणाम देखने के लिए मैं टीवी से चिपका हुआ हूं.”

कुछ मतदान सर्वेक्षकों के सर्वे में आप को सिर्फ छह सीटें मिलने के दावे पर आश्चर्य जताते हुए उमर ने ट्वीट किया, “वह कौन सा पूर्व मतदान सर्वे था जिसने आप को छह सीटें दी थीं. आप को अपने मतदान सर्वेक्षक को बर्खास्त करने की जरूरत है, स्पष्ट तौर पर उन्होंने अपनी प्रश्नावलियां घर पर ही भरी होंगी.”

उन्होंने लिखा, “2014 के लिए खुद के लिए नोट : अंतिम समय में लुभावनी योजनाओं के जरिए मतदाताओं का समर्थन लेने की कोशिश करके देखेंगे.”

“बड़ी जनसभाओं में जुटी भीड़ का मतलब हमेशा वोट नहीं होता, लेकिन जनसभाओं में कम उपस्थिति निश्चित रूप से बड़े खतरे का संकेत है.”

उन्होंने लिखा, “2014 के चुनाव के लिए मैंने खुद को समझाया है कि ‘नए चेहरे और विचार को कभी नजरअंदाज मत करो.”

जम्मू और कश्मीर में अगले साल लोकसभा और विधानसभा दोनों चुनाव होने हैं.

वर्तमान में राज्य में उमर की क्षेत्रीय पार्टी नेशनल कान्फ्रेंस और कांग्रेस पार्टी की गठबंधन सरकार है.

देखने की बात है कि अगले चुनाव में एनसी, कांग्रेस के साथ गठबंधन करती है या नहीं.

Tags: , , ,