भाजपा दिल्ली में चुनाव के लिये तैयार

Monday, November 3, 2014

A A

भारतीय जनता पार्टी

नई दिल्ली | एजेंसी: सोमवार को दिल्ली के उप राज्यपाल के साथ सभी दलों की बैठक के पहले भाजपा ने संकेत दिया है कि वह दिल्ली में फिर से विधानसभा चुनाव चाहती है. गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है. जाहिर है कि दिल्ली विधानसभा में स्पष्ट बहुमत न होने का कारण, भाजपा फिर से चुनाव चाहती है. हाल ही में हुए हरियाणा तथा महाराष्ट्र के विधानसभा चुनावों में भाजपा आगे रही है तथा दोनों ही राज्यों में उसकी सरकार बनी है. ऐसे हालात में भाजपा जोड़-तोड़ की राजनीति करने के बजाये फिर से चुनाव चाहें तो अचरज नहीं होगा.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति ने भी दिल्ली में सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिये आमंत्रित करने की मंजूरी दे दी है. यदि भाजपा दिल्ली में सरकार बनाने से इंकार कर दे तो दिल्ली में फिर से विधानसभा चुनाव होने की संभावना है. उल्लेखनीय है कि पहले सरकार बनाने वाले आम आदमी पार्टी ने इस्तीफा दे दिया था जिससे दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लागू है. दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने सरकार गठन की संभावना पर चर्चा के लिए सोमवार को सभी पार्टियों को आमंत्रित किया है.

आम आदमी पार्टी नेता मनीष सिसौदिया ने कहा, “हमें शाम 5.45 बजे बुलाया गया है.” कांग्रेस नेता हारून युसुफ ने भी निमंत्रण मिलने की पुष्टि की है और कहा कि वे संभवत: अपराह्न 3.45 पर जंग से मुलाकात करेंगे. भारतीय जनता पार्टी के सूत्रों ने बताया कि उनकी बैठक सोमवार शाम राजभवन में होने की संभावना है. भाजपा विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी है.

जंग ने 29 अक्टूबर को कहा था कि वे सभी पार्टियों के नेताओं से सरकार गठन की संभावना पर चर्चा के लिए मुलाकात करेंगे.

गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय ने दिल्ली में सरकार गठन को लेकर हो रही देरी पर केंद्र सरकार से नाखुशी जाहिर की थी. इसके बाद जंग ने यह पहल की है.

आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल के 14 फरवरी को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद से 17 फरवरी से राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है.

भाजपा के तीन विधायकों के लोकसभा के लिए निर्वाचित हो जाने के बाद विधानसभा के सदस्यों की संख्या 70 से 67 हो गई है.

भाजपा के विधायकों की संख्या 31 से घटकर 28 हो गई है. इसके पास अकाली दल के एक विधायक का समर्थन है.

विनोद कुमार बिन्नी के निष्कासन के बाद आप के विधायकों की संख्या घटकर 27 हो गई है.

विधानसभा में कांग्रेस के आठ विधायक हैं. एक निर्दलीय और एक विधायक जनता दल युनाइटेड से भी हैं.

दिल्ली में चुनाव चाहती हैं भाजपा
भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली में सरकार नहीं बनाने का फैसला किया है. पार्टी का कहना है कि राज्य में चुनाव कराया जाना चाहिए. भाजपा के सूत्रों ने सोमवार को कहा कि दिल्ली भाजपा इकाई के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने उपराज्यपाल नजीब जंग से सोमवार सुबह मुलाकात की. सूत्रों के अनुसार, उपाध्याय ने बैठक में भाजपा के रुख से जंग को अवगत कराया. जंग ने हालांकि, इस मामले में कोई भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया है.

देश में भाजपा के पक्ष में चल रहें हवा के मद्देनज़र दिल्ली चुनाव में भाजपा को लाभ हो सकता है. कई सर्वों का यही निष्कर्ष है. हालांकि, शाम तक ही यह स्पष्ट हो पायेगा कि दिल्ली में फिर से विधानसभा चुनाव होने हैं या नहीं.

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,