दिल्ली में बैठ छत्तीसगढ़ को ठगा

Saturday, May 7, 2016

A A

ठगी

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: ठगी के लिये मशहूर दिल्ली के ठगों ने वहीं से छत्तीसगढ़ के कुछ लोगों को लाखों का चूना लगाया. दरअसल दिल्ली पुलिस तथा छत्तीसगढ़ पुलिस ने मिलकर एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है जो छत्तीसगढ़ के घरों में मोबाइल टावर लगाने के नाम पर हजारों की ठगी करता था. पुलिस ने छः ठगों को गिरफ्तार किया है उनके नाम हैं राम अवतार गुप्ता, दिनेश गुप्ता, विनित कुमार, अमित कुमार तथा दीपक कुमार के रूप में हुई है.

मिली जानकारी के अनुसार इन लोगों ने रोहिणी के सेक्टर-6 में अपना एक काल सेंटर भी स्थापित करके रखा था.

लोगों को ठगने के लिये पहले छत्तीसगढ़ के मीडिया में मोबाइल टावर लगाने के विज्ञापन दिये जाते हैं. जिसमें प्रतिमाह 70 हजार रुपये तक कमाने का प्रलोभन दिया जाता है. संपर्क करने के लिये दिल्ली का फोन नंबर दिया जाता है. जब कोई उनसे कोई संपर्क करते तो उससे पहले फाइलिंग चार्ज तथा सर्विस टैक्स के नाम से करीब 61 हजार रुपये एक बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करवा लिये जाते थे.

इन बैंक अकाउंट को फर्जी दस्तावेजों से खुलवाया जाता था. छत्तीसगढ़ पुलिस के पास शिकायतें दर्ज करवाई गई हैं जिनके पैसे दिल्ली में बैठे ठगों ने ठग लिये थे.

पुलिस ने ठगों को गिरफ्त में लेने के लिये उन बैंक अकाउंट को सीज करवा दिया. बैंक अकाउंट सीज होने से 29 अप्रैल को दीपक कुमार नाम के एक शक्स ने बैंक से संपर्क किया. बैंक वालों ने उससे बैंक में आकर संपर्क करने की बात कही तथा पुलिस को इत्तिला दे दी.

जब दीपक कुमार बैंक आया तो उसे पुलिस से दबोच लिया. उसी ने पुलिस को ठगी के गिरोह की जानकारी दी. पुलिस ने जब छापा मारा तो 23 फर्जी मतदाता पहचान पत्र, 23 बैंक खाते, 43 सिम कार्ड तथा 50 हजार रुपये नगद मिले.

Tags: , ,