धौनी के ‘अतिआत्मविश्वास’ ने हराया

Monday, September 8, 2014

A A

महेंद्र सिंह धोनी

बर्मिघम | खेल डेस्क: ट्वेंटी-20 मुकाबले में इंग्लैंड ने भारत को तीन रनों से हरा दिया. पांचवें एक दिवसीय मुकाबले में इंग्लैंड के हाथों मिली हार के बावजूद भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का आत्मविश्वास ‘अति’ स्तर पर था इसी की वजह से भारत को एजबेस्टन में रविवार को खेले गए एकमात्र ट्वेंटी-20 मुकाबले में भी हार का सामना करना पड़ा. भारत को जीत के लिए 181 रनों का लक्ष्य मिला था लेकिन निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट पर 177 रन ही बना सका.

विराट कोहली ने सबसे अधिक 66 रन जोड़े. शिखर धवन ने 33, सुरेश रैना ने 25 और कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने नाबाद 27 रन बनाए. कोहली ने 41 गेंदों पर नौ चौके और एक छक्का लगाया.

धवन ने 28 गेंदों पर दो चौके और इतने ही छक्के लगाए. रैना ने 20 गेंदों पर एक चौका और एक छक्का लगाया जबकि धौनी ने 18 गेंदों पर दो चौके और एक छक्का जड़ा.

अंतिम ओवर में भारत को जीत के लिए 17 रनों की जरूरत थी, जिसे ट्वेंटी-20 क्रिकेट में आसानी से हासिल करने योग्य माना जा सकता है. विकेट पर धौनी के अलावा टी-20 पर्दापण करने वाले अंबाती रायडू नाबाद 3 रन थे.

क्रिस वोक्स द्वारा फेंके गए उस ओवर की पहली गेंद पर धौनी ने छक्का लगाया और अपने इरादे जाहिर किए. दूसरी गेंद पर धौनी ने दो रन लिए.

तीसरी गेंद पर हालांकि उन्होंने कोई रन नहीं लिया. इसकी भरपाई उन्होंने चौथी गेंद पर चौका लगाकर किया. अब भारत को दो गेंदों पर पांच रनों की जरूरत थी.

वोक्स ने काफी सोच-विचार करने के बाद पांचवीं गेंद पर धौनी को गच्चा देने के प्रयास किया. उस गेंद पर एक रन बन सकता था लेकिन धौनी ने इसके लिए रायडू को मना कर दिया.

अंतिम गेंद पर भारत को जीत के लिए छक्के की जरूरत थी. यह शायद धौनी का अतिआत्मविश्वास ही था, जिसने उन्हें एक रन लेने से रोक लिया.

आईपीएल में वह ऐसे हालात में कई बार चेन्नई सुपर किंग्स को जीत दिला चुके हैं लेकिन वोक्स के सामने उनकी एक न चली और वह अंतिम गेंद पर एक रन ही ले सके. इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

इससे पहले, इंग्लैंड ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए मोर्गन 71 रन, एलेक्स हेल्स 40 रन और रवि बोपारा नाबाद 21 रन की उम्दा पारियों की बदौलत निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट गंवाकर 180 रन बनाए.

मोर्गन ने 31 गेंदों की तूफानी पारी में तीन चौके और सात छक्के लगाए. मोर्गन, बोपारा और हेल्स के अलावा जोए रूट ने भी 26 रनों का योगदान दिया.

हेल्स ने 25 गेंदों पर तीन चौके और इतने ही छक्के लगाए. अंतिम क्षणों में बोपारा ने नौ गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का जड़ा.

हेल्स और रूट ने 48, जोस बटलर 10 रन और मोर्गन ने 45 तथा मोर्गन और बोपारा ने 36 रनों की साझेदारी की. भारत की ओर से मोहम्मद समी ने 38 रन देकर तीन विकेट लिए. मोहित शर्मा, अपने पहला टी-20 मैच खेल रहे कर्ण शर्मा और रवींद्र जडेजा को एक-एक विकेट मिला.

इस मैच के साथ भारत का इंग्लैंड दौरा समाप्त हुआ. पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला में भारत को 1-3 से हार मिली लेकिन पांच मैचों की ही एकदिवसीय श्रृंखला में उसने 3-1 से जीत दर्ज की.

Tags: , , , , , , ,