वसुंधरा पर खनन घोटाले का आरोप

Saturday, September 26, 2015

A A

वसुंधरा राजे-मुख्यमंत्री

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: कांग्रेस ने शुक्रवार को राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का इस्तीफा मांगा. कांग्रेस ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर राज्य में खनन घोटाले का आरोप लगाया है. कांग्रेस का कहना है कि राजस्थान के खदानों की नीलामी नहीं की गई तथा उन्हें पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर आवंटित कर दिया गया है. कांग्रेस ने कथित रूप से 45,000 करोड़ रुपये के घोटाले की सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में सीबीआई से जांच कराने की मांग भी की.

कांग्रेस की राजस्थान इकाई के अध्यक्ष सचिन पायलट ने राज्य में 653 खदानों को प्रथम आओ प्रथम पाओ आधार पर आवंटित कर सरकारी खजाने को 45,000 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाने का राजे पर आरोप लगाया. पायलट ने आरोप लगाया कि खदानों के आवंटन के लिए पारदर्शी प्रक्रिया नहीं अपनाई गई, उनकी नीलामी नहीं की गई.

पायलट ने कहा, “राजस्थान का यह सबसे बड़ा घोटाला है. राजस्थान में यह सबसे बड़ी लूट है. हम सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में एक सीबीआई जांच की मांग करते हैं. हम यह मांग भी करते हैं कि मुख्यमंत्री तत्काल इस्तीफा दे दें, क्योंकि जबतक वह पद पर रहेंगी मामले की स्वतंत्र जांच संभव नहीं है.”

पायलट ने कहा कि यह स्थिति तब है, जब कि केंद्र सरकार ने राज्य से कहा था कि जबतक इस संबंध में नीति तैयार नहीं हो जाती, तबतक ऐसा कुछ न किया जाए.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि एक लाख बीघा जमीन बगैर नीलामी के 653 खदानों के आवंटन के हिस्से के रूप में दे दी गई. इस जमीन का खनिज मूल्य दो लाख करोड़ रुपये है.

उन्होंने कहा, “यदि इसकी नीलामी हुई होती, तो राजस्थान सरकार को 45,000 करोड़ रुपये मिले होते.”

कांग्रेस ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाया है, क्योंकि मोदी ने बार-बार कहा है कि वह न तो रिश्वत लेंगे और न किसी को रिश्वत लेने देंगे.

Tags: , , ,