महिलाओं की मुफ्त कैंसर जाँच

Sunday, February 16, 2014

A A

छत्तीसगढ़ कैंसर जाँच शिविर

रतनपुर | उस्मान कुरैशी: छत्तीसगढ़ की 30 से 60 साल उम्र की सभी महिलाओं के निशुल्क स्वास्थ्य की जांच कर कैंसर की बीमारी का पता लगाया जाएगा. प्रदेश में प्रायोगिक तौर पर रायपुर के धरसीवा व बिलासपुर के कोटा ब्लाकों में इस योजना को शुरू किया गया है. बिलासपुर जिले के कोटा में इस योजना का शुभारंभ शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने किया.

कोटा में कैंसर रोग की प्राथमिक चरण में खोज करने महिला स्वास्थ्य शिविर शुभारंभ करते उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते कहा स्वास्थ्य मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने कहा कि कैंसर का उपचार पूरे देश के लिए बड़ी चुनौती है. प्रदेश सरकार प्रारंभिक चरण में ही इसकी पहचान कर लोगों को जीवन देने में सफल होगी. सरकार बिलासपुर व जगदलपुर के मेडिकल कालेज में केंसर का उपचार शुरू करने कार्रवाई कर रही है.

श्री अग्रवाल ने कहा कि पूरी दुनिया में कैंसर का पूरी तरह उपचार संभव नही है. इसके उपचार में बड़ी राशि खर्च होती है. रायपुर के मेडिकल कालेज में कैंसर के इलाज के लिए विश्व स्तर के आाधुनिक मशीन लगाएं गए है. यहां सभी वर्ग के मरीजों का मुफत उपचार हो रहा है. निजी क्षेत्र में बालको के वेदांता के सहयोग से तीन सौ करोड़ की लागत से नया रायपुर में बना हास्पिटल एक साल के भीतर शुरु हो जाएगा.

श्री अग्रवाल ने कहा कि कैंसर का पता पहली अवस्था में लग जाए तो इसका इलाज संभव है. तीसरे चैथे अवस्था में पहुंचने के बाद बचाना मुश्किल होता है. प्रदेश सरकार ने प्रायोगिक तौर पर निजी सहयोग से धरसीवा व कोटा ब्लाक को कैंसर पीड़ित महिलाओं की खोज करने के लिए चुना है. आज इसका शुभारंभ कोटा से हो रहा है.

उन्होने कहा कि हमारा काम सिर्फ खोज करना ही नही है. जांच के बाद प्रारंभिक लक्षण मिलने पर मरीज का समुचित रूप से निशुल्क उपचार सुनिश्चित करना भी है. इसके लिए एक प्रक्रिया भी तय की है.

श्री अग्रवाल ने कहा कि कैंसर के साथ हमारे डायबिटीज हृदय रोग भी बड़ी चुनौती है. सरकार मुख्यमंत्री खाद्यांन योजना के कार्डधारी सभी वर्गो के मरीजों को संजीवनी योजना के तहत हृदय रोग के लिए मुफत इलाज उपलब्ध करा रही है. प्रदेश की जनता को अपने उपचार के लिए घर खेत बेचना ना पड़े इसलिए हमने स्वास्थ्य सुरक्षा देने का संकल्प लिया है.

श्री अग्रवाल ने स्मार्ट कार्ड के जरिए मिलने वाली 30 हजार की राशि को जल्दी ही 50 हजार किए जाने की भी बात कही. उन्होने कैंसर जांच अभियान में सहयोग के लिए जन सेवा केन्द्र गनियारी के डाक्टर रमन कटारिया का विशेष रूप से धन्यवाद ज्ञापित किया.

कैंसर पीड़ितों का पता लगाने शुरू किए गए इस योजना पर पदेश के स्वास्थ्य विभाग के संचालक डा. कमलप्रीत ने कहा कि महिलाओं को फोकस कर इस योजना की शुरूआत की गई है. हर पंचायत में कैंसर की जांच के लिए स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जाएगा. इसका उददेश्य बच्चेदानी चेस्ट व मुंह के कैंसर का प्राथमिक स्टेज पर ही पता लगाना है.

इसके लिए तीस से साठ साल की सभी महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाएगा. कैंसर पीड़ित मरीज मिलने पर प्रारंभिक स्तर पर इनका उपचार कोटा व बिलासपुर में ही मुहैया कराया जाएगा. गंभीर मरीजों का उपचार एम्स व मेडिकल कालेज रायपुर में होगा.

Tags: , , , , ,