छत्तीसगढ़: सूखा राहत पर वाकआउट

Friday, July 15, 2016

A A

छत्तीसगढ़ विधानसभा

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ विधानसभा में विपक्षी कांग्रेस ने किसानों के सूखा राहत मुद्दे पर वाकआउट किया. कोंडागांव में किसानों को सूखा राहत न मिलने के मुद्दे को कांग्रेस ने जोर-शोर से उठाया. कांग्रेस के विधायक मोहन मरकाम ने इस मुद्दे को प्रश्नकाल के दौरान उठाया.

जवाब में राजस्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने कहा कि प्रदेश में जो पात्र किसान है उन्हें आज भी मुआवजा दिया जा रहा है. उन्होंने सदन में कहा कि कलेक्टरों को निर्देश दिये गये हैं जो पात्र होगा उसे आज भी मुआवजा मिलेगा.

विधयाक मोहन मरकाम के सवाल पर मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने कहा जो पात्र किसान मुआवजा पाने से वंचित रह गये हैं वो कलेक्टर को आवेदन कर सकते हैं परीक्षण करके फैसला किया जायेगा.

दरअसल, अपने लिखित जवाब में राजस्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने बताया था कि कोंडागांव, माकड़ी, फरसगांव, केशकाल तथा बड़ेराजपुर के 47 हजार 454 किसानों को 35912.516 हेक्टेयर रकबा सूखे से प्रभावित है. 15 जून, 2016 की स्थिति में 2343 किसानों से मुआवजा हेतु आवेदन प्राप्त हुये थे तथा सभी पात्र किसानों को मुआवजा राशि का भुगतान कर दिया गया है. भुगतान हेतु कोई भी प्रकरण लंबित नहीं है.

कांग्रेस के कवासी लखमा ने एक अन्य सवाल में मुआवजा वितरण में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया. जिस पर मंत्री ने कहा कि मआवजा पात्र को बांटा गया है किसी को आपत्ति है तो तस्दीक करा लेंगे कि सही व्यक्ति को मुआवजा मिला या नहीं. इस पर विपक्षी सदस्यों ने हंगामा किया तथा नारेबाजी कर किया वाकआउट किया.

Tags: , , , ,