छत्तीसगढ़: सूदखोरी ने ली जान

Sunday, June 21, 2015

A A

फांसी

रतनपुर | उस्मान कुरैशी: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के रतनपुर में सूदखोरों से मिल रही धमकियों और तगादे से परेशान युवक ने घर के सामने आम के पेड़ में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. घटना पर रतनपुर पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना शुरू दी है.

रतनपुर में रेस्ट हाउस इलाके के हाउसिंग बोर्ड कालोनी में शनिवार की सुबह अजय सिंह नाम के युवक ने फांसी लगाकर खुदकुषी कर ली. उसकी लाश घर के सामने आम के पेड़ में लटकी मिली है. शनिवार की सुबह घटना की जानकारी परिजनों को होने पर इसकी सूचना रतनपुर थाने में दी.

मूलतः यूपी निवासी युवक अजय सिंह बीते सात साल से यहां के हाउसिंग कालोनी में परिवार के साथ रहता था. उसका कोयले और लकड़ी का कारोबार था उसने कुछ लोगों से कर्ज ले रखा थे. मृतक के पुत्र अभिषेक के मुताबिक विजय अग्रवाल और यशोदानंदन यादव कर्ज की वसूली के लगातार दबाव बना रहे थे. कई बार उसे फोन पर धमकियां भी मिली थी जिसकी वजह से उसके पिता कुछ समय से काफी तनाव में थे. उसने सूदखोरों से मिल रही धमकी को ही खुदकुशी का कारण बताया है.

मामले में थाना प्रभारी विलियम टोप्पो का कहना है कि मृतक ने देर रात तक परिजनों के साथ टीवी देखी थी सुबह घर के सामने आम के पेड़ पर उसकी लाश फांसी के फंदे में लटकी मिली है. घटना की सूचना पर मर्ग कायम कर जांच की जा रही है.

सूदखोरों पर नहीं लग रहा अंकुश

सूदखोरों के चुगुल से लोगों को राहत पहुंचाने प्रशासन तमाम तरह की कवायद करने का दावा करता है. पुलिस महानिरीक्षक ने इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई के फरमान भी जारी कर रखे है. जमीनी तौर पर सूदखोरों पर ऐसी कार्रवाईयों असर होता नही दिख रहा और शायद यही वजह है कि सूदखोरों की वजह से होने वाली मौतों का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है.

Tags: , , , , , ,