अब बेरोजगारी भत्ता 1000 रुपये

Tuesday, April 2, 2013

A A

उत्तर प्रदेश में बांध के नाम पर अरबों खर्च

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में गरीबी रेखा श्रेणी में जीवन यापन करने वाले शिक्षित बेरोजगार युवाओं को मिलने वाला बेरोजगारी भत्ता दोगुना हो गया है. नये वित्तीय वर्ष 2013-14 में उन्हें अब प्रति माह एक हजार रूपए की दर से बेरोजगारी भत्ता मिलेगा. इसके पहले उन्हें प्रतिमाह 500 रूपए की दर से बेरोजगारी भत्ता दिया जाता था. वित्तीय वर्ष 2013-14 के बजट में लगभग दस करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है.

जनशक्ति नियोजन मंत्री रामविचार नेताम ने बताया कि प्रदेश में गरीबी रेखा श्रेणी में जीवन यापन करने वाले शिक्षित बेरोजगारों को प्रति माह 500 रूपए की दर से बेरोजगारी भत्ता दिया जा रहा था. अब उन्हें प्रति माह एक हजार रूपए की दर से भत्ता दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि प्रदेश के शिक्षित बेरोजगारों को दिसम्बर 2012 तक दो करोड़ 21 लाख से अधिक राशि का वितरण किया जा चुका है.

हालांकि छत्तीसगढ़ में बेरोजगारों की संख्या को लेकर भी बड़ा विवाद है. सरकार का दावा है कि राज्य में 1.2 प्रतिशत बेरोजगारी दर के आधार पर प्रदेश में कुल 2.88 लाख लोग ही बेरोजगार हैं. हालांकि सरकार के जिला रोजगार कार्यालयों में भी पंजीकृत बेरोजगारों की संख्या 14 लाख से अधिक है, जो आबादी का 6 प्रतिशत है. इससे पहले कांग्रेस ने भी सवाल खड़ा किया था कि सरकार एक तरफ तो बेरोजगारी दर 1.2 प्रतिशत बताती है, वहीं सरकार के इंवेस्टर मीट में किये गये 277 एमओयू के आधार पर 6 लाख 30 हजार युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने की बात मुख्यमंत्री कैसे कहते हैं. बहरहाल देखना ये है कि बेरोजगारी भत्ते की यह कवायद किस हद तक नौजवान बेरोजगारों को संतुष्ट कर पाती है.

Tags: , , , ,