बैंक कर्मियों की हड़ताल से व्यापार प्रभावित

Wednesday, December 3, 2014

A A

भारतीय रुपया

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ में बुधवार को बैंक कर्मियों की हड़ताल से 300 करोड़ रुपये का व्यापार प्रभावित हुआ. यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर वेतन संशोधन की मांग को लेकर बुधवार को छत्तीसगढ़ समेत कुछ राज्यों के बैंक कर्मियों ने एक दिवसीय हड़ताल कर प्रदर्शन किया. जिसके चलते राजधानी समेत पूरे प्रदेश में बैंकिंग कार्य प्रभावित हुए.

हड़ताल के चलते आज राजधानी में 300 करोड़ के देन-लेन प्रभावित होने की जानकारी मिली है. वहीं लोगों को बैंक में रुपए जमा करने अथवा निकालने के लिए काफी परेशानियों का भी सामना करना पड़ा. आज सभी बैंकों की लगभग 1500 शाखाएं बंद हैं.

राजधानी के मोतीबाग चौक पर स्थित पंजाब नेशनल बैंक शाखा के सामने आज काफी संख्या में बैंक कर्मियों ने एकत्रित होकर बेहतर वेतन संशोधन की मांग को लेकर प्रदर्शन किया. युएफबीयू व छत्तीसगढ़ बैंक एम्पलाईज एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि बैंककर्मी वेतन संशोधन व सेवाशर्तो में सुधार के लिए आन्दोलन की राह पर हैं. इसी कड़ी में आज देशभर में क्षेत्रीय हड़ताल की गई थी. जिसमें सभी बैंकों के अधिकारियों व कर्मचारियों ने शिरकत की.

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के पदाधिकारी डीके सरकार ने बताया कि वेतन वृद्धि की एकसूत्रीय मांग को लेकर बैंक कर्मियों ने हड़ताल की है. जिसमें नौ अलग-अलग बैंक कर्मचारी-अधिकारियों की यूनियन शामिल है. बैंक अधिकारियों ने बताया कि नवंबर 2012 में उनका वेतन बढ़ाया जाना था पर अब तक नहीं बढ़ाया गया है. अगर मांगें नहीं मानी गई तो पूरे देश में एक साथ अनिश्चितकालीन हड़ताल कर बैंकिंग कारोबार को ठप्प किया जाएगा.

आईबीए की ओर से बैंकों की खराब माली हालात का हवाला देते हुए वेतन बिल पर 11 प्रतिशत वृद्धि का प्रस्ताव दिया गया है. लेकिन बैंक कर्मी इससे बेहतर वेतन संशोधन की मांग की है. पदाधिकारियों ने बताया कि मांगों को लेकर युएफबीयू द्वारा आज राष्ट्रीय स्तर पर क्षेत्रीय आंदोलन व हड़ताल रखी गई है.

Tags: , , , , ,