नक्सल क्षेत्र में बनी 488km सड़क

Saturday, July 9, 2016

A A

बस्तर

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों में 488 किलोमीटर सड़कों का निर्माण विगत दो सालों में हुआ है. नक्सल चुनौती के बावजूद नक्सल प्रभावित बस्तर संभाग के सुदूरवर्ती बीजापुर और सुकमा सहित सभी संबंधित जिलों में पक्की सड़कों का निर्माण तेजी से चल रहा है और विगत लगभग सवा दो वर्ष में 497 करोड़ रूपए की लागत से 488 किलोमीटर की नौ सड़कों का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है.

बीजापुर-आवापल्ली-जगरगुण्डा तक 70 किलोमीटर तक पक्की डामरवाली सड़क का निर्माण 121 करोड़ रूपए की लागत से किया जा रहा है. इसमें से लगभग 46 किलोमीटर कार्य पूर्ण कर लिया गया है. कांकेर जिले में भानुप्रतापपुर-पखांजूर-बांदे-पी.व्ही.109 तक लगभग 92 किलोमीटर रास्ते का निर्माण 110 करोड़ रूपए की लागत से किया जा रहा है. दंतेवाड़ा जिले में बारसूर-गीदम-दंतेवाड़ा-किरन्दुल होते हुए जगरगुण्डा, चिन्तलनार और मरियागुडम तक 97 करोड़ की लागत से 106 किलोमीटर की सड़क बन रही है.

रायपुर में हुई समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा- नक्सल क्षेत्रों में बनने वाली सड़कों के निर्माण के लिए सभी संबंधित निर्माण एजेंसियों को पूर्ण सुरक्षा दी जाएगी.

डॉ. रमन सिंह ने बैठक में नक्सल प्रभावित बस्तर संभाग में सड़कों के निर्माण में आई गतिशीलता और तेजी से पूर्ण हो रही महत्वपूर्ण सड़कों के निर्माण कार्यों को राज्य सरकार की अत्यंत महत्वपूर्ण उपलब्धि बताया.

उन्होंने कहा कि यह पूरी दुनिया को दिखाने लायक है कि हिंसा और आतंक की गंभीर चुनौती का सामना करते हुए हमारे मेहनतकश मजदूर और अन्य अधिकारी-कर्मचारी तत्परता से सड़क निर्माण में लगे हैं. उन्होंने इसके लिए लोक निर्माण विभाग की टीम को बधाई भी दी.

सड़कों से इन क्षेत्रों की जनता को काफी राहत मिलेगी. शिक्षा, स्वास्थ्य और इस प्रकार की अन्य बुनियादी सुविधाएं गांवों तक तेजी से पहुंच सकेंगी.

Tags: , , , ,