गणतंत्र को हक-सम्मान-मजबूती मिला

Monday, January 26, 2015

A A

रमन सिंह

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि नई सरकार के आने से गणतंत्र को उसका हक, सम्मान और मजबूती मिला है. मुख्यमंत्री रमन सिंह जगदलपुर में गणतंत्र दिवस समारोह में बोल रहे थे. रमन सिंह ने कहा, ” माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने सामाजिक- आर्थिक विकास के लिए नवाचार, जनभागीदारी और एकजुटता की नई कार्य-संस्कृति की सौगात दी है, जिसके कारण गण-तंत्र को उसका हक, सम्मान और मजबूती मिली है. उन्होंने जिन राष्ट्रीय योजनाओं और कार्यक्रमों की शुरूआत की है, उसका व्यापक असर हो रहा है. ‘स्वच्छ भारत अभियान‘ के लिए प्रधानमंत्री जी की तर्ज पर हमने नवरत्नों के नाम घोषित कर स्वच्छता के सामाजिक नेतृत्व की श्रृंखला आगे बढ़ाई है. ”

छत्तीसगढ़ पर बोलते हुए मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा, “विकास और विस्तार तभी सार्थक होता है, जब उसमें जनहित तथा गुणवत्ता को साथ लेकर चलने का सामर्थ्य हो. छत्तीसगढ़ में हमने प्रशासनिक इकाइयों, संस्थाओं, सड़क, बिजली, पानी, सेहत, शिक्षा, रोजगार, आवास, परिवहन, पर्यटन जैसे तमाम क्षेत्रों में विकास के अनेक कदम उठाए हैं साथ ही सभी क्षेत्रों में गुणवत्ता के लिए भी समुचित प्रबंध कर रहे हैं. राज्य के सभी क्षेत्रों में विकास की रोशनी पहुंचने से विरासत में मिली विसंगतियां भी समाप्त हो रही हैं. केन्द्र में नई सरकार के आने से नक्सलवाद से निपटने के लिए नई रणनीति और नए संकल्पों के साथ प्रयास शुरू हुए हैं. विकास के साथ सुरक्षा के समुचित उपाय किए जा रहे हैं. संविधान विरोधी तत्वों को किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. आपके सहयोग से हम गणतंत्र की सक्षमता और सामर्थ्य में वृद्धि का कारवां आगे बढ़ाने में सफल होंगे.”

छत्तीसगढ़ के उद्योगों पर बोलते हुए रमन सिंह ने कहा, ” प्रधानमंत्री जी ने ‘कुशल भारत‘ के निर्माण का जो लक्ष्य दिया है, छत्तीसगढ़ उसमें अपना सर्वोत्तम योगदान दे रहा है. ‘मेक इन इंडिया’ का लक्ष्य पाने के लिए हम ‘मेक इन छत्तीसगढ़’ पर जोर दे रहे हैं और इसके लिए विभिन्न विभागों की प्रचलित नीतियों में संशोधन के साथ नए आकर्षक प्रावधानों का समावेश कर रहे हैं. ‘नई औद्योगिक नीति 2014-19’ जारी कर दी गई है, जिससे राज्य में पर्यावरण सम्मत नए उद्योगों के साथ ही रोजगार के अवसरों का भी विकास होगा.”

छत्तीसगढ़ के कृषि पर उन्होंने कहा कि “लगातार चार वर्षों में तीसरी बार ‘कृषि कर्मण पुरस्कार’ प्रतीक है कि हमारी नीतियां, योजनाएं तथा किसान भाई-बहनों की मेहनत रंग ला रही है. हमने अल्पकालीन कृषि ऋण को ब्याज मुक्त करते हुए लाभप्रद किसानी के लिए नया आधार बनाया है. कृषि ऋण प्रदाय का लक्ष्य भी बढ़ाकर इकतीस सौ करोड़ रूपए कर दिया गया है, जिसके कारण लगभग 10 लाख किसान परिवारों को लाभ मिल रहा है.”

रमन सिंह ने कहा, ” छत्तीसगढ़ में संचालित ‘कौशल विकास’ योजनाओं को राष्ट्रीय स्तर पर रेखांकित किया गया है और देश के कुल लक्ष्य के सातवें हिस्से का दायित्व हमें दिया गया है. राज्य में नवस्थापित लाइवलीहुड कॉलेजों में आवासीय प्रशिक्षण के साथ ही, इनके संचालन में निजी क्षेत्र व उद्योगों की भागीदारी सुनिश्चित की जा रही है.”

आम आदमी को स्वास्थ्य सुविधाएं सुलभ कराने में उन्होंने कहा ‘संजीवनी कोष योजना’, ‘मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना’, ‘मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना’ का बड़ा योगदान है. इन योजनाओं में ऑन लाइन आवेदन, स्वीकृति आदि सुविधाएं पारदर्शी ढंग से देने के लिए ‘नव जीवन पोर्टल’ प्रारम्भ किया गया है. मलेरिया, पीलिया, डायरिया आदि पर अंकुश के लिए वेब पोर्टल ‘सचेत’ प्रारम्भ किया गया है. मैदानी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को कम्प्यूटर टेबलेट दिए जा रहे हैं.

Tags: , , ,