छत्तीसगढ़: बलात्कारी को सबक सिखाया

Friday, August 7, 2015

A A

छेड़छाड़

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ की दो लड़कियों ने अपने बलात्कारी को सबक सिखाया है. बीजापुर की रहने वाली दोनों लड़कियों ने बलात्कार के बाद चुप रहने के बजाये साबित कर दिया कि नारी अबला नहीं सबला है. उन्होंने खुद अस्पताल में जाकर अपना इलाज करवाया तथा उसके बाद पुलिस को शिकायत की. पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है.

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में 2-3 जुलाई को दो गरीब आदिवासी लड़की साप्ताहिक बाजार में खरीददारी करने पहुंती थी. वहीं से छः दरिंदे उन्हें उठाकर पास के जंगल में ले गये तथा बारी-बारी से सामूहिक बलात्कार किया था.

सामूहिक बलात्कार के बाद दरिंदों ने दोनों नाबालिक लड़कियों को कूटरू में सड़क किनारे फेंक दिया था. जहां से उठकर दोनों लड़की अस्पताल पहुंची तथा उसके बाद थाने में जाकर पुलिस को शिकायत की.

पुलिस ने छः में से एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है तथा बाकी के पांच की खोज जारी है. इस तरह से छत्तीसगढ़ की आदिवासी नाबालिक बालाओं ने बलात्कार के बाद खुद ही दरिंदों के खिलाफ आवाज उठाने का साहस किया है.

Tags: , , ,