छत्तीसगढ़: बाल विवाह रोकें- रमन

Sunday, May 8, 2016

A A

रमन सिंह- मुख्यमंत्री

रायपुर | समाचार डेस्क: रमन सिंह ने रविवार को अपनी रेडियो वार्ता ‘रमन के गोठ’ में प्रदेशवासियों को अक्षय तृतीया के दिन बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराई को रोकने की अपील की. उन्होंने प्रदेशवासियों को इस महीने मनाए जाने वाले अक्षय तृतीया, बुद्ध पूर्णिमा, महाप्रभु वल्लभाचार्य की जयंती, सेन महाराज, भगवान परशुराम और शंकराचार्य जयंती की बधाई दी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आम जनता के लिए सरकार की योजनाएं मंत्रालय के वातानुकूलित कमरों में दिमाग से तो बन सकती हैं, लेकिन जब हम चौपालों में गांव वालों के बीच बैठकर योजनाएं बनाते हैं तो ऐसी योजनाएं न सिर्फ दिमाग से, बल्कि दिल से बनती हैं.

उन्होंने कहा कि चौपालों में होने वाली चर्चाएं हमारे लिए भविष्य का एजेंडा बन जाती हैं, जिनका हम शत-प्रतिशत पालन करते हैं. मुख्यमंत्री ने रविवार को आकाशवाणी के रायपुर केंद्र से प्रसारित अपनी मासिक वार्ता ‘रमन के गोठ’ की 9वीं कड़ी में लोक सुराज अभियान का उल्लेख करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए.

उन्होंने कहा कि गर्मियों के इस मौसम में आम, महुआ और कुसुम के वृक्षों के नीचे और कहीं तपती धूप में गांव वालों के साथ चौपाल लगाकर बैठते हैं, तो उनसे बातचीत में बहुत-सी नई योजनाओं का जन्म होता है.

डॉ. सिंह ने कहा, “मैंने देखा है कि हमने जितनी भी योजनाएं चौपालों में बनाई हैं, उन्हें अच्छी सफलता मिली है. अब तक ऐसी सबसे सफल योजनाओं में मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना, चावल उत्सव, लघु वनोपजों की खरीदी और तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका वितरण उल्लेखनीय हैं.”

मुख्यमंत्री ने अपने रेडियो प्रसारण में प्रदेश के नक्सल हिंसा पीड़ित सुकमा जिले के भेज्जी-इंजरम मार्ग में लोक सुराज अभियान के तहत मोटरसाइकिल से सड़क निरीक्षण का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि इस सड़क के निर्माण में सुरक्षा देने वाले हमारे सात जवान शहीद हुए.

मुख्यमंत्री ने अपनी रेडियो वार्ता में बताया कि राज्य में अब तक लगभग 108 जनऔषधि केंद्र शुरू किए जा चुके हैं, जहां ब्रांडेड दवाइयों की तुलना में चौथाई कीमत पर लगभग 400 प्रकार की जेनेरिक दवाइयां उपलब्ध हैं.

Tags: , , , , ,