मुख्य धारा से जुड़े माओवादी: राजनाथ

Sunday, May 31, 2015

A A

राजनाथ सिंह-गृहमंत्री

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के सुकमा में राजनाथ सिंह ने माओवादियों से मुख्यधारा में लौट आने की अपील की. केन्द्रीय गृह मंत्री रविवार को छत्तीसगढ़ के अंतिम छोर के जिला मुख्यालय सुकमा में आयोजित विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा – “मुझे इस बात की खुशी है कि सुकमा जिले में आने वाला मैं देश का पहला गृहमंत्री हूं. भविष्य में भी आपके बीच आता रहूँगा. जिला मुख्यालय सुकमा और जिले के अन्य इलाकों में शिक्षा, रोजगार प्रशिक्षण और अधोसंरचना विकास के हो रहे कार्यों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यहां की तरक्की को देखकर मैं आश्चर्य चकित रह गया हॅू.”

राजनाथ सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ कुछ वर्ष पहले तक अत्यधिक पिछड़ा प्रदेश माना जाता था, लेकिन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में विगत लगभग बारह वर्षों में समाज के सभी वर्गों की बेहतरी के लिए हो रहे कार्यों के फलस्वरूप अब यहां की तस्वीर पूरी तरह बदल गई है.

राजनाथ सिंह ने कहा कि इसके बावजूद राज्य और जनता की तरक्की और खुशहाली के लिए प्रयत्नशील सरकार का विरोध माओवादियों द्वारा क्यों किया जा रहा है, यह समझ से परे है. केन्द्रीय गृहमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ की रमन सरकार ने सुकमा को जिले का दर्जा दिया है. जिला बनने के बाद यहां के विकास में और भी तेजी आयी है.

यहां उन्होंने मुख्यमंत्री के साथ लाइवलीहुड प्रशिक्षण कॉलेज में विभिन्न व्यवसायों का प्रशिक्षण ले रहे युवाओं से भी मुलाकात की.

डॉ. रमन सिंह ने केंद्रीय गृहमंत्री को बताया कि इस कॉलेज में जिले के अल्पशिक्षित युवाओं को विभिन्न व्यवसायों के लिए अल्पकालीन तथा रोजगार मूलक तकनीकी प्रशिक्षण दिया जा रहा है. जिसे सराहते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि राष्ट्र निर्माण करने की दिशा में छत्तीसगढ़ सरकार की लाइवलीहुड कॉलेज परियोजना निश्चित रूप से काफी महत्वपूर्ण है.

उन्होंने कॉलेज में संचालित अन्य कोर्स-कंप्यूटर कोर्स, औद्योगिक, सेनेटरी पेड निर्माण प्रशिक्षण, टेलीविजन-मोबाइल मरम्मत, ऑटोमोबाइल, प्लंबर प्रशिक्षण, ब्यूटी पार्लर, बांस कला प्रशिक्षण के प्रशिक्षुओं से भी मुलाकात की. सुकमा स्थित स्वयं सहायता समूह उदय सीता माता को साढ़े 64 हजार रुपये का चेक प्रदान किया.

राजनाथ दोपहर में जिला मुख्यालय सुकमा में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में शामिल हुए.

इस दौरान उन्होंने 201 नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया. सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग ने करवाया था. इस अवसर पर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार का साल पूरा होने होने के उपलक्ष्य में आयोजित जनकल्याण मेले और विकास प्रदर्शनी का भी शुभारंभ किया.

उनके साथ प्रदेश के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा, गृह विभाग के संसदीय सचिव लाभचंद बाफना, मुख्य सचिव विवेक ढांड एवं जिले के कई जनप्रतिनिधि भी थे.

Tags: , , , , , , ,