मौत से हारी छत्तीसगढ़ की खुशबू

Saturday, June 28, 2014

A A

बच्ची बीमार.

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ की खुशबू साहू मौत से हार गई राजनांदगांव के मोखला गांव की खुशबू नामक 5 साल की बच्ची शनिवार को तीन बजे के आसपास अपने घर के ही आंगन में खुदे बोरवेल के गड्ढे में फंस गई थी. बच्ची को रात के करीब 9 बजे के आसपास बोरवेल के गड्ढे से निकाल लिया गया. लेकिन अस्पताल पहुंचने के बाद पता चला कि बोरवेल में ज़िंदा फंसी खुशबू जिंदगी और मौत की जंग में हार गई और उसकी मौत हो गई.

गौरतलब है कि शनिवार के शाम के करीब 3-4 बजे के बीच राजनांदगांव के मोखला गांव की खुशबू बोरवेल में गिर गई थी. बोरवेल 40 फुट गहरा था, जिसमें खुशबू 15 फीट में फंस गई थी. घटना की खबर मिलते ही गांव वाले तुरंत बोरवेल की ओर दौड़े. मौके पर गांव के लोगों ने बोरवेल में फंसी बच्ची को रस्सी के सहारे निकालने की कोशिश की. लेकिन इसमें सफलता नहीं मिल पाई.

मोखला गांव जिस इलाके में है, वह पूरी तरह से रेत वाला इलाका है और इन दिनों इलाके में रुक-रुक कर बारिश हो रही है. इसलिये बच्ची के सकुशल होने को लेकर गांव के लोग बेहद चिंतित थे. करीब तीन घंटे बाद ज़िला प्रशासन और बचाव दल के लोग गांव पहुंचे.

बचाव दल के लोगों ने सबसे पहले बोरवेल के गड्ढे में फंसी बच्ची को जीवनदायी आक्सीजन उपलब्ध करवाया. इसके बाद बोरवेल के समानांतर एक और गढ़्ढ़ा खोदा गया. उस गढ़्ढ़े में से सुरंग खोदकर खुशबू को बाहर निकाला गया. उसे तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने इस नन्हीं सी जान को मृत घोषित कर दिया.

खुशबू की मौत की खबर पहुंचने के बाद से गांव में शोक और तनाव का माहौल है. गांव वालों का आरोप है कि अगर समय रहते प्रशासन और बचाव राहत के लोग गांव पहुंच जाते तो शायद खुशबू की जान बच जाती.

Tags: , ,