छत्तीसगढ़: बेटे की बलि दी

Saturday, April 9, 2016

A A

बलि प्रथा

रायपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के सिमगा के पास के एक गांव में एक व्यक्ति ने अपने दस साल के बेटे की बलि कुल देवता को दे दी. अपने बेटे के हत्या के आरोप में गिरफ्तार 45 वर्षीय श्रवण कुमार सतनामी ने पुलिस को बताया कि उनके परिवार में कुल देवता को बलि देने की प्रथा है. उसने कहा कि इसके लिये कथित तौर पर कुल देवता उसे बार-बार सपने में आकर इसकी मांग कर रहे थे इसलिये उसने अपने 10 वर्षीय बेटे लाकेश्र्वर की बलि दे दी.

घटना के बारें में मिली जानकारी के अनुसार सिमगा के पास रिंगनी गांव में रहने वाले आरोपी ने शुक्रवार तड़के अपने बेटे को शौच के बहाने गांव के तालाब के पास ले जाया गया था. वहीं पर आरोपी ने अफने बेटे को तालाब में बनी पचरी पर पटक-पटककर मार डाला. इसके बाद ह अपने णरे हुये बेटे को लेकर घर लौट रहा था. गांव वालों के पूछने पर उसने बताया कि बेटे की मौत गिरगिट के काटने से हुई है.

जब गांव वालों को शक हुआ तो उन्होंने सिमगा पुलिस को खबर की. मौके पर पहुंचकर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया तब उसने अपराध स्वीकार किया.

इस बीच नाहक ही अंधविश्वास के चलते एक दस वर्षीय बच्चे की मौत हो गई.

Tags: , , , ,