छत्तीसगढ़: हुक्का बार में छापा

Monday, October 17, 2016

A A

हुक्का बार-कोरबा

रायपुर | संवाददाता: रायपुर में रविवार रात कई हुक्का बार में छापा मारा गया. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बीती रात पुलिस ने करीब 18 हुक्का बार में छापा मारा. इनमें से कई हुक्का बार बिना अनुमति के चलाये जा रहे थे. कुछ हुक्का बार में तो बिना लाइसेंस के ही शराब परोसी जा रही थी.

अचानक हुई पुलिस की दबिश से हुक्का बार मालिकों में हड़कंप मच गया. पुलिस ने कई होटलों में भी छापेमारी की. वहीं, इनमें से कई स्थानों पर आबकारी नियमों का खुल्मखुल्ला उल्लंघन पाया गया.

इन हुक्का बार में कई नाबालिक नशा करते हुये पाये गये. बड़े शहरों की तर्ज पर चलाये जा रहें हुक्का बार नाबालिकों तथा युवाओं को बिगाड़ने का काम करते पाये गये. जाहिर है कि राजधानी रायपुर के खाये-पीये-अघाये घरों के बच्चे मॉर्डन बनने की जिद में अपने भविष्य को बिगाड़ने पर तुले हुये हैं.

उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कराये गये सर्वे के मुताबिक छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय स्तर से ज्यादा लोग तंबाखू का सेवन करते हैं. भारत में राष्ट्रीय औसत के हिसाब से 15 वर्ष के उपर से 34.6 फीसदी लोग तंबाखू का सेवन करते हैं जबकि छत्तीसगढ़ में 53.2 फीसदी लोग इसका सेवन करते हैं.

भारत में राष्ट्रीय स्तर पर 15 साल से उपर के पुरुषों में तंबाखू का सेवन 47.9 फीसदी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पाया जबकि छत्तीसगढ़ में यह 63.9 फीसदी है.

इसी तरह से भारत में राष्ट्रीय स्तर पर 15 साल से उपर के महिलाओं में तंबाखू का सेवन 20.3 फीसदी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पाया जबकि छत्तीसगढ़ में यह 41.6 फीसदी है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के सर्वे में यह बात निकलकर आई कि राष्ट्रीय स्तर पर तंबाखू का सेवन 6-30 मिनट तक 38.9 फीसदी लोग करते हैं जबकि छत्तीसगढ़ में 46.2 फीसदी.

जहां तक 31-60 मिनट तक तंबाखू सेवन की बात है तो राष्ट्रीय स्तर पर इसे 15.2 फीसदी लोग करते हैं और छत्तीसगढ़ में 8.9 फीसदी करते हैं.

इसी तरह से तंबाखू का सेवन राष्ट्रीय स्तर पर 60 मिनट से ज्यादा 24.6 फीसदी लोग करते हैं वहीं छत्तीसगढ़ में 14.9 फीसदी लोग करते हैं.

Tags: , , , , , ,