जंगलो की सुरक्षा पुलिस के हवाले

Tuesday, March 24, 2015

A A

छत्तीसगढ़ पुलिस

कोरबा | अब्दुल असलम: छत्तीसगढ़ के वनकर्मियों की प्रदेशव्यापी हडताल का असर अब कोरबा के जंगलो पर दिखने लगा है. वनकर्मियों की बेमियादी हडताल के खत्म होने तक जंगलों की सुरक्षा का जिम्मा अब पुलिस विभाग को सरकार ने सौप दिया गया हैं.

छत्तीसगढ़ के वनकर्मियों की प्रदेशव्यापी अनिश्चितकालीन हडताल का असर अब वन विभाग के दफ्तरों के साथ ही जंगलों में भी दिखने लगा हैं. एक ओर जहां जंगलों में माफिया लकडियों के लिये पेडों की कटाई कर रहे हैं वहीं, दूसरी तरफ जंगली जानवरों का खतरा भी लगातार बड रहा हैं. इसलिये वनकर्मियों की इस बेमियादी हडताल को देखते हुये पुलिस मुख्यालय ने कोरबा पुलिस विभाग को जंगलो की सुरक्षा का जिम्मा सौप दिया हैं.

पुलिस मुख्यालय से मिले आदेश के बाद जिला पुलिस विभाग ने वनांचल क्षेत्रों के थानेदारों को जंगलो की सुरक्षा को लेकर अलर्ट करने के साथ ही जंगलों मे गश्त करने का निर्देश दे दिया हैं.

गौरतलब हैं कि वनकर्मी रामसाय बड्डे की गिरफ्तारी के बाद उसे जेल दाखिल किये जाने के विरोध में प्रदेश भर के वनकर्मी पिछले 12 दिनों से हडताल पर बैंठ हुये हैं. ऐसें में एक ओर जहां वनकर्मी अपने साथी की नि:शर्त रिहाई की मांग पर अडे़ हुये हैं वही सूबे की रमन सरकार इस मामले को लेकर ज्यादा गंभीरता दिखाती नजर नहीं आ रही हैं. इस हडताल के कारण अब पुलिस अधिकारियों पर अपराधियों के साथ ही अब जंगलो पर पैनी नजर रखने की जिम्मेदारी आ गई है.

Tags: ,