सिंचाई विभाग की पोल खुली

Sunday, July 12, 2015

A A

दर्री

कोरबा | अब्दुल असलम: छत्तीसगढ़ के कोरबा में जल संसाधन विभाग के व्यवस्था की उस वक्त पोल खुल गई, जब अधिक पानी होने की वजह से खोले से दर्री का मेन गेट बंद नही हुआ. लिहाजा किसानों के कोटे का पानी नदी में बेवजह बहाना पड़ गया. दरअसल दर्री डेम में पानी अधिक होने की वजह से दर्री बराज का मेन गेट 11 नंबर खोला गया था.

गेट को विभाग ने 6 फीट ऊपर खोला गया था. शुक्रवार की रात पानी कम होने के बाद जब गेट बंद करने की कारवाई की गई तो गेट 4 फीट नीचे जाकर अटक गया.

इसके बाद छत्तीसगढ़ के जल संसाधन विभाग में हडकंप मच गया. जल संशाधन विभाग कोरबा संभाग के कार्यपालन अभियंता मधुकर कुम्हारे ने जानकारी देते बताया की दर्री बराज में पानी की अधिकता के कारण डेम का 11 नंबर गेट खोला गया था. गेट से 5500 क्विसेक पानी छोड़ा गया था. बाद में गेट बंद करने के दौरान वो 2 फीट नीचे नही जा रहा है. लिहाजा बिलासपुर और खरसिया से टीम आकर सुधार कार्य कर रही है.

सुधरने में अभी एक दिन का वक्त लग सकता है. पानी को नियंत्रित करने बगल में 12 नंबर एक गेट को और खोला गया है. वर्तमान में नदी में 3500 क्यूसेक छोड़ा पानी छोड़ा जा रहा है. लेकिन इस पूरे मामले ने जल संसाधन विभाग के व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी है.

Tags: , ,