छत्तीसगढ़: ऑनलाइन नेत्र का इलाज

Tuesday, May 5, 2015

A A

आखें मिलाना

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य विभाग द्वारा राज्य ग्रामीण और दूरस्थ अंचलों के नेत्र रोगियों के बेहतर इलाज उपलब्ध कराने की एक नई योजना शुरू की जा रही है. अब उनका इलाज उनके अपने गाँव के नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में हो सकेगा. इसके लिए अब उन्हें जिला अस्पताल या शहर जाने की जरुरत नहीं होगी. इस योजना के शुरू हो जाने से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में कार्यरत नेत्र सहायक जिला अस्पतालों के नेत्र विशेषज्ञों की मदद से नेत्र रोगियों का इलाज करेंगे.

इसके लिए छत्तीसगढ़ के 50 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों का चिन्हांकन किया गया है, जहाँ पर टेली ओप्थैल्मिक विजन सेंटर की स्थापना की जाएगी. इन 50 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों और जिला अस्पतालों को आपस में इन्टरनेट के माध्यम से जोड़ा जायेगा. प्रदेश के जिला अस्पतालों के नेत्र विशेषज्ञ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में इलाज के लिए आए मरीजों का कम्प्यूटर में लगे वेब कैमरा और स्लिट माइक्रोस्कोप के माध्यम से मरीजों का परीक्षण कर उनकी बीमारी का पता लगा कर जरुरी दवाईयां और सलाह दे सकेंगे. इन केन्द्रों में आकर मरीज जिले के नेत्र विशेषज्ञों से वीडियो कालिंग के माध्यम से सीधे बातचीत कर अपनी समस्या भी बता सकेंगे. इस योजना की शुरुआत स्वाथ्य विभाग और राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के सहयोग से शुरू की जा रही है.

उल्लेखनीय है कि उत्तराखण्ड और त्रिपुरा राज्य में इस प्रणाली से नेत्र रोगियों का इलाज किया जा रहा है. छत्तीसगढ़ सरकार के स्वास्थ्य विभाग का एक दल मदुरै स्थित एक निजी अस्पताल में जाकर इस प्रणाली का अध्ययन करेगा और इसके बाद चयनित सामुदायिक केन्द्रों के नेत्र सहायकों को भी प्रशिक्षण के लिए वहां भेजा जायेगा.

Tags: , , ,