छत्तीसगढ़: तेल पीने वाला भालू

Tuesday, August 30, 2016

A A

भालू-छत्तीसगढ़

कांकेर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के कांकेर में खाद्य तेल पीने वाले भालू का आतंक व्याप्त है. कांकेर के गांव गढ़पिछवाड़ी में पिछले कई दिनों से एक भालू ने आतंक मचा रखा है. इसे पकड़ने में अब तक वन विबाग का अमला भी नाकाम रहा है.

गांव वालों के अनुसार भालू घरों में घुस कर वहां रखे खाने के तेल को ही निशाना बनाता है तथा पूरा तेल पीने के बाद भी घर के आसपास ही भटकता रहता है. भालू के सीधा घरों में घुसने से लोग इस कदर डरे हुए है कि पूरी रात उन्हें भालू की दहशत में जागते हुए काटनी पड़ रही है.

गांव वालों के अनुसार करीब 8 दिनों से गांव में भालू की दहशत बनी हुई है. भालू गांव के बड़ेपारा तथा छोटेपारा के कई घरों के घुस चूका है तथा अधिकांश घरों में रसोई में घुस कर वहां रखे तेल को चट कर जाता है. बड़ेपारा के कैलाश पटेल ने कहा कि कल रात उनके घर में रात करीब 3 बजे भालू घुस गया था घर में आवाज सुन के वो जब उठा तो देखा कि भालू रसोई घर में घुसा हुआ था.

भालू के रोजाना घरो में घुसने से दहशत में जी रहे गड़पिछवाड़ी के ग्रामीणों ने भालू को पकड़ के दूर जंगल में छोड़ने की मांग की है ताकि भालू के दहशत से उन्हें राहत मिल सके. वही वन विभाग के द्वारा बार-बार भालू को भगाने का प्रयास किया जा रहा है पर वह गांव छोड़कर नहीं जा रहा है. जाहिर है कि भालू को खाने के तेल आकर्षित कर रहा है. जिस तरह से भालू घर में घुस रहा है उससे किसी बड़ी घटना की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है.

Tags: , , , , ,