नन रेप: मसीही समाज का अल्टीमेटम

Sunday, June 28, 2015

A A

रेप

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में बीते सप्ताह हुये नन के रेप से आक्रोशित मसीही समाज ने बंद का अल्टीमेटम दिया है. शनिवार को डॉयोसिस ऑफ छत्तीसगढ़ के बैनर तले मसीही समाज के लोगों ने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में रैली निकालकर कलेक्टर और एसपी को ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में कहा गया है कि 24 घंटे के भीतर अपराधियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता है तो समाज द्वारा प्रदेश के सभी शैक्षणिक संस्थान, चिकित्सालय और अन्य संस्थाओं को 30 जून को बंद रखा जाएगा.

जिला कलेक्टर तथा पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपने वालों में डॉयोसिस ऑफ छत्तीसगढ़ की सचिव अर्पणा कौशिक कुमार, गुरविंदर चड्ढा, उषारानी दास, एस. सैम्युल समेत कई सदस्य शामिल थे.

उल्लेखनीय है कि बीते सप्ताह रायपुर के 48 वर्षीय नन के दुष्कर्म के आरोपी अब तक आजाद हैं. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में नन से रेप के बाद पुलिस ने करीब 15 टीमें गठित कर जांच शुरु कर दी है परन्तु सात दिनों बाद भी दुष्कर्म के आरोपी पकड़े नहीं जा सके हैं.

उधर, गोवा के आर्चबिशप फिलिप नेरी फेराओ ने शनिवार को कहा कि देश में अल्पसंख्यकों के मन में ‘भय और असुरक्षा’ की भावना घर करती जा रही है. आर्चबिशप ने सामूहिक दुष्कर्म की शिकार छत्तीसगढ़ के रायपुर की एक 48 वर्षीया नन के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए ये बातें कहीं.

आर्चबिशप फेराओ ने एक वक्तव्य जारी कर कहा कि यह दुखद है कि दुष्कर्म करने वाले अपराधियों को अब तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है.

उन्होंने कहा, “हम यह भी दुआ कर रहे हैं कि देश में अल्पसंख्यकों के सर पर मंडरा रहे भय और असुरक्षा के बादल छंट जाएं और हम जल्द ही स्वतंत्रता, शांति और न्यायपूर्ण जीवन जी सकें.”

आर्चबिशप ने कहा, “इस तरह के नीच कार्य के कारण बदलाव की जरूरत और अधिक बढ़ गई है, क्योंकि यह नीच कार्य एक ऐसे व्यक्ति के साथ हुआ है जिसने अपना जीवन गरीबों पर न्यौछावर कर दिया है. हमें इस बात की निराशा है कि अपराधियों को अब तक पकड़ा नहीं जा सका है.”

फेराओ गोवा में रोमन कैथोलिक गिरजाघरों के प्रमुख हैं.

Tags: , , , ,