कांग्रेस का अविश्वास प्रस्ताव गिरा

Sunday, July 26, 2015

A A

रमन सिंह

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के रमन सरकार के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रताव गिरा. कांग्रेस के द्वारा लाये गये अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 37 मत तथा विरोध में 50 मत पड़े. बीती रात ढाई बजे तक छत्तीसगढ़ विधानसभा की कार्यवाही चली. कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव पर छत्तीसगढ़ विधानसभा में दो दिन तक बहस चली जिसके बाद मतदान हुआ.

छत्तीसगढ़ के नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने 25 जुलाई को सदन में प्रस्ताव रखा था”यह सदन मुख्यमंत्री रमन सिंह एवं उनके मंत्रिमंडल के विरुद्ध अविश्वास व्यक्त करता है.” कांग्रेस ने रमन सरकार के खिलाफ 121 बिन्दुओं पर अविश्वास प्रस्ताव लाया था. इस अविश्वास प्रस्ताव के गिरने से कांग्रेस को झटका लगा है.

वहीं सत्ता पक्ष इस अविश्वास प्रस्ताव के धराशाई होने को लेकर पहले से ही आश्वस्त था. कांग्रेस के बाद अब इस मामले में सत्ता पक्ष को घेरने कोई और मुद्दा मौजूद नहीं है. नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने प्रस्ताव के समर्थन में लगभग ढाई घंटे तक अपना पक्ष रखा वहीं प्रदेश के मुखिया डॉ. रमन सिंह ने डेढ़ घंटे तक लगातार अपनी बातें कहीं.

विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि इस आरोप पत्र में घोटाले ही घोटालों का उल्लेख है लेकिन सत्ता पक्ष ने अब तक कोई जवाब नहीं दिया है. सरकार की विफलता के कारण ही आउटसोर्सिंग की जरूरत पड़ी है. 12 साल में राज्य सरकार प्रदेश में शिक्षक तैयार नहीं कर पाई. जिसके चलते सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया है.

उन्होंने राज्य सरकार पर तानाशाही रूख अख्तियार अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने विपक्ष के एक भी आरोपों का जवाब नहीं दिया. सरकार के रवैये से ऐसा प्रतित हो रहा है कि जोगी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा हो रही है. नेता प्रतिपक्ष ने व्यंगात्मक लहजे में सत्ता पक्ष के खिलाफ हमला करते हुए कहा कि दुनिया का सारा ज्ञान भाजपा के पास है.

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विधानसभा में अपनी सरकार के खिलाफ विपक्षी कांग्रेस द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर सदन में लगभग 19 घण्टे की चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि प्रदेश की जनता का हमारी सरकार पर विश्वास लगातार कायम है. उन्होंने कहा कि मामला विश्वास या अविश्वास का नहीं बल्कि विपक्ष के प्रति आत्मविश्वास का है. यह अविश्वास प्रस्ताव विपक्ष की नकारात्मक राजनीति और आत्म मुग्धता की पराकाष्ठा है.

रमन सिंह ने कहा एक समय था जब छत्तीसगढ़ को कांग्रेस का गढ़ माना जाता था, लेकिन जनता ने कांग्रेस की इसी आत्ममुग्धता के कारण उस पर विगत तीन चुनावों में अविश्वास व्यक्त किया है. डॉ. रमन सिंह ने कांग्रेस द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को आधारहीन बताया. डॉ. सिंह ने कहा कि हमारी सरकार जनता के विश्वास की बदौलत छत्तीसगढ़ के विकास के लिए काम कर रही है और लगातार आगे बढ़ रही है.

Tags: , , , , ,