छत्तीसगढ़: जन अदालत में हत्या

Sunday, June 28, 2015

A A

धारदार चाकू

सुकमा | एजेंसी: नक्सलवाद छोड़कर मुख्यधारा से जुड़ने से पहले नक्सलियों ने अपने एक पूर्व साथी की हत्या जन अदालत में उसकी पत्नी के सामने कर दी. पति की हत्या के बाद नक्सलियों ने उसकी पत्नी को बंधक बनाकर अपने पास रख लिया.

सुकमा जिले के गोंडेरास जंगल में नक्सलियों ने जन अदालत लगाकर हेमला भगत की हत्या उसकी पत्नी कोसी के सामने कर दी. साथ ही हत्या के बाद कोसी भगत को बंधक बनाकर अपने पास रख लिया.

सूत्रों के मुताबिक, भगत दंपति नक्सलवाद का दामन छोड़कर जल्द ही पुलिस के सामने समर्पण करने वाले थे और ये बात नक्सलियों को नागवार लगी.

नक्सलियों ने शनिवार की सुबह गादीरास थाने के गोंडेरास व पोटाली गांव के बीच जंगलों में कथित रूप से जन अदालत लगाई थी, जहां हेमला भगत और उसकी पत्नी कोसी भगत को सजा सुनाई गई.

हेमला भगत मलगेर एरिया कमेटी का सदस्य था और उसकी पत्नी नक्सली संगठन दंडकारण्य किसान मजदूर संघ की अध्यक्ष बताई गई है. वह इस समय नक्सलियों के कब्जे में है.

एएसपी संतोष सिंह ने नक्सलियों के इस खूनी वारदात की पुष्टि करते हुए बताया कि हेमला भगत मूलत: बीजापुर जिले के गंगालूर तहसील के सावनार गांव का निवासी था. पुलिस भगत के शव को बरामद करने के प्रयास में जुटी है.

Tags: , ,