मोदी को सुनने का खर्च सरकारी

Saturday, May 9, 2015

A A

रायपुर

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के नया रायपुर में प्रधानमंत्री मोदी की जनसभा में शामिल होने के लिए मुख्य सचिव विवेक ढांड ने सूबे के पंचायत प्रतिनिधियों को निमंत्रण भेजा है. जिला पंचायतों को कहा गया है कि वे पंच-सरपंचों ले जाने का खर्च उठाए. सूबे के कई जिलों सहित बेमेतरा जिले में भी इसको लेकर विवाद की स्थिति बन गई है. जिला पंचायत की सीईओ तुलिका प्रजापति का कहना है, “मैंने सचिवों व रोजगार सहायकों की रुटीन बैठक ली है. उन्हें सीएस से प्रधानमंत्री की सभा के लिए आए निमंत्रण पत्रों की जानकारी दी गई. पंचायत फंड का कहां उपयोग होगा इसकी मुझे जानकारी नहीं है. एसडीएम ही कुछ बता पाएंगे.”

बेमेतरा जिले के 387 ग्राम पंचायतों के 5799 पंच व सरपंचों पर करीब 67 लाख 40 हजार रुपये मूलभूत निधि से खर्च किए जाएंगे. इस निमंत्रण पत्र का वितरण जनपद पंचायतों के सीईओ के माध्यम से किया जा रहा है.

ग्राम पंचायत मरका के सरपंच रोहित कुमार साहू का कहना है कि उनके यहां 18 पंच हैं तथा गाड़ी व खाने-पीने की व्यवस्था पर करीब 20 हजार रुपये खर्च होंगे, इस राशि की व्यवस्था ग्राम पंचायत के फंड से करने का निर्देश मिला है.

सरपंच रोहित कुमार साहू ने बताया कि उन्हें कहा गया है कि अभी फंड में पैसा नहीं है, बाद में प्रतिपूर्ति की जाएगी. फिलहाल प्रति पंच 15 रुपये जमा करने के निर्देश दिए हैं, इसलिए उन्हें 300 रुपये जमा करना है.

साहू ने बताया कि इस पैसे से खाद्य विभाग पंचों के लिए लंच पैकेट का इंतजाम करेगा. पैकेट में पूड़ी व अचार देने की बात कही गई है.

दूसरी तरफ, फूड ऑफिसर धर्मेंद्र पसीने ने कहा, “मुझे किसी के लिए भी खाने की व्यवस्था करने का निर्देश नहीं है और मैं या मेरा विभाग क्यों ऐसा करेगा?”

सूत्रों का दावा है कि प्रधानमंत्री की सभा में पंचों व सरपंचों के ले जाने के लिए विकास विस्तार अधिकारी, कृषि विस्तार अधिकारी को सेक्टर प्रभारी व पंचायत सचिव व रोजगार सहायकों को वाहन प्रभारी बनाया गया है.

जिला पंचायत की सीईओ तुलिका ने बताया कि ग्राम सचिवों व रोजगार सहायकों की रुटीन बैठक में उनके कामों की जानकारी ली गई तथा काम की समीक्षा की गई.

बैठक में सचिवों व रोजगार सहायकों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 9 मई को रायपुर आने की जानकारी देते हुए मुख्य सचिव से प्राप्त निमंत्रण पत्र के बारे में बताया गया है. सीईओ का कहना है कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि पंचों या सरपंचों को पंचायत फंड से रायपुर जाने के लिए कहा गया है. वे मात्र निमंत्रण पत्र बंटवा रही हैं.

बेमेतरा जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष आशीष छाबड़ा का कहना है कि छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री का आगमन गौरव की बात है, लेकिन जानकारी मिली है कि पंचों व सरपंचों को सभा में शामिल होने के लिए पंचायत फंड से खर्च करने की छूट दी गई है. छाबड़ा का कहना है कि सरकारी पैसे की फिजूलखर्ची व पंच-सरपंचों पर दबाव बनाना उचित नहीं है.

उन्होंने कहा कि ऐसे भी राज्य की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तथा फिजूलखर्ची पर रोक लगनी चाहिए. उन्होंने कहा कि भाजपा समर्थित पंच या सरपंच सभा में शामिल होना चाहते हैं तो वे अपने स्वयं के खर्च पर जाएं, लेकिन सरकारी पैसे का दुरुपयोग न करें.

बेमेतरा जिले में ग्राम पंचायतों की संख्या- 387, बेमेतरा ब्लॉक में 103, नवागढ़ में 94, साजा में 97 व बेरला में 93, पंचों की संख्या : बेमेतरा में 1404, नवागढ़ में 1284, साजा में 1358 व बेरला में 1366, जनपद पंचायतों में सदस्यों की संख्या- बेमेतरा में 23, नवागढ़ में 24, साजा में 25 व बेरला में 25 हैं. जिला पंचायत में 14 सदस्य हैं.

Tags: , , , , ,