कोरबा जेल के बंदी की संदिग्ध मौत

Monday, February 16, 2015

A A

कमल-पटेल-कोरबा

कोरबा | अब्दुल असलम: छत्तीसगढ़ के कोरबा के जिला जेल में बंद विचाराधीन बंदी की संदिग्ध मौत के बाद गुस्साएं परिजनों व ग्रामीणों ने रविवार को गृहग्राम भिलाईखुर्द में चक्काजाम कर दिया. जिससे कोरबा-चांपा मार्ग पूरी तरह से बाधित हो गया. मार्ग के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लगी रही. जिससे लोग परेशान हुए. वहीं गुस्साएं ग्रामीणों द्वारा कुछ राहगीरों से मारपीट किए जाने की भी खबर है. चक्काजाम की सूचना पर पुलिस व प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई थी.

मिली जानकारी के अनुसार उरगा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम भिलाईखुर्द निवासी कमल पटेल को पुलिस ने जमीन घोटाला के मामले में गिरफ्तार किया था. कमल पटेल को विचाराधीन बंदी के रूप में जिला जेल में निरूद्घ किया गया था. सूत्रों के मुताबिक शनिवार को कमल पटेल के साथ अन्य बंदियों के द्वारा मारपीट की गई. मारपीट के बाद हालत बिगडऩे पर उसे जेल प्रबंधन द्वारा जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई.

बंदी कमल पटेल की मौत से गुस्साएं परिजनों ने रविवार सुबह भिलाईखुर्द मार्ग पर चक्काजाम करते हुए मौत की न्यायिक जांच की मांग की. चक्काजाम के दौरान ग्रामीणों व परिजनों में भारी आक्रोश देखने को मिला पुलिस व प्रशासन की टीम द्वारा चक्काजाम को समाप्त करने का प्रयास किया जाता रहा. बताया जाता है कि बंदी के साथ मारपीट की गई है. मारपीट में अधिक चोट आने से उसकी मौत होने की बात सामने आ रही है. लेकिन किन बंदियों के द्वारा किस बात को लेकर मारपीट की गई है. यह पता नहीं चल पाया है.

इस संबंध में जिला जेल के जेलर केएल देखमुख से चर्चा करनी चाही गई. लेकिन केएल देखमुख का मोबाइल फोन स्वीच ऑफ था. फिलहाल मामले की जांच उपरांत ही बंदी की मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा.

जमीन घोटाले का था बंदी
मृतक कमल पटेल जमीन घोटाला मामले में गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी उपरांत उसे जिला जेल में निरूद्घ किया गया था.

मारपीट की जाती थी
परिजनों के मुताबिक जिला जेल में कमल पटेल के साथ मारपीट की जाती थी. परिजनों ने बताया कि जब-जब वे उससे मिलने जाते थे तो वह अपने साथ हुए मारपीट की बात बताता था और मारपीट से ही उसकी मौत की खबर सामने आने के बाद ग्रामीण व परिजन आक्रोशित हो उठे.

Tags: , , ,