विद्यालयों में शौचालय-पानी का अभाव

Thursday, July 24, 2014

A A

छात्राएं

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में शौचालय तथा पीने के पानी का अभाव है. छत्तीसगढ़ में एक ओर तो छात्रों को लैपटाप बांटे जा रहें हैं दूसरी ओर हाई स्कूलों तथा हायर सेकेन्डरी स्कूलों में पीने के पानी का अभाव है, छात्र अन्यत्र जाकर हैंडपंप का पानी पीते हैं. उसी तरह से इन स्कूलों में शौचालय तक नहीं हैं. दूसरी तरफ केन्द्र सरकार के तरफ से घरों में निर्मल ग्राम योजना के तहत शौचालय बनवाने के लिये मदद दी जा रही है.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिये पूछे गये एक सवाल के जवाब में जानकारी दी गई है कि खैरागढ़ के 3 हाई स्कूलों में शौचालय नहीं हैं तथा 1 हाई स्कूल में पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध नहीं है. इसी तरह से 8 हायर सेकेंडरी स्कूलों में शौचालय नहीं है और 12 में पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध नहीं है. खैरागढ़ के कुल 11 स्कूलों में शौचालय तथा 13 स्कूलों में पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध नहीं है.

गौरतलब है कि खैरागढ़ विधानसभा में कुल हाई स्कूल 32 तथा हायर सेकेंडरी स्कूल 39 हैं. इस प्रकार से खैरागढ़ के 12.5 फीसदी हाई स्कूलों में शौचालय तथा पीने के पानी की सुविधा नहीं है. उसी तरह से 51.2 फीसदी हायर सेकेंडरी स्कूलों में पीने के स्वच्छ पानी का अभाव है तथा शौचालय नहीं हैं.

खैरागढ़ के जिन स्कूलों में शौचालय का अभाव है वे हैं खुडमुडी,भण्डारपुर, देवरी के हाई स्कूल तथा बुंदेली, धोधा, रामपुर, कटंगी, मोहगांव,चिचोला, गातापारकला और विक्रमपुर के हायर सेकेंडरी स्कूल.

इसी तरह से जिन स्कूलों में पीने के स्वच्छ पानी उपलब्ध नहीं है वे हैं खुड़मुड़ी का हाई स्कूल तथा बांगुर, धोधा, रामपुर, कटंगी, मोहगांव, बकरकट्टा, साल्हेकला, चिचोला, भण्डारपुर, गातापारकला, देवरी, विक्रमपुर के हायर सेकेंडरी स्कूल. इन सभी स्कूल के छात्रों को पानी पीने के लिये माध्यमिक स्कूल के हैंडपंप का ही सहारा है.

सभी स्कूल खैरागढ़ तथा छुईखदान के हैं.

Tags: , , , , , , ,