छत्तीसगढ़: मानव तस्कर गिरफ्तार

Monday, September 14, 2015

A A

मानव तस्कर

कोरबा | अब्दुल असलम: छत्तीसगढ़ के कोरबा में मानव तस्करी में लिप्त महिला को पकड़ा गया है. कोरबा के पाली थाना क्षेत्र के ग्राम नुनेरा में एक परित्यकता महिला को मेरठ ले जाने का प्रयास कर रहे एक महिला व दो युवकों को ग्रामीणों ने मानव तस्करी के संदेह में पुलिस के हवाले किया है. पाली पुलिस ने इस मामले में दो महिला और दो पुरुष को ग्रिफ्तार किया है. मामला मानव तस्करी से जुड़ा है.

बताया जा रहा है की महिला पहले भी गांव की तीन युवतियों को मेरठ ले जा चुकी है. जिनका अब तक कोई सुराग नहीं मिला है.

घटना पाली थाना क्षेत्र के ग्राम नुनेरा की है जहां 30 वर्षीय उर्मिला देवांगन नामक महिला निवास करती थी. जो पांच वर्ष पूर्व मेरठ चली गई थी. मेरठ से शादी कर तीन साल बाद वह नुनेरा लौटी थी. जहां से वह अपनी बहन गीता देवांगन को भी मेरठ शादी कराने के नाम पर ले गई थी. यहां से शादी करने के बाद गीता देवांगन भी तीन साल बाद नुनेरा लौटी. नुनेरा लौटने के बाद गीता देवांगन ने गांव में रहने वाली 19 वर्षीय ललिता अघरिया, 18 वर्षीय नीरा दास व 20 वर्षीय सुमित्रा कंवर को मेरठ में अच्छी नौकरी दिलाकर शादी करा देने की बात कहकर अपने साथ लेकर चली गई थी.

गीता देवांगन सोमवार को नुनेरा आई थी. इस दौरान उसके साथ संजय कश्यप व एके राजू भी साथ थे. गांव में रहने वाली परित्यकता अनिता मानिकपुरी को अपने साथ मेरठ ले जाने का प्रयास कर रही थी. मेरठ में अच्छे घर में शादी करा दिए जाने की बात कहकर वे अनिता को अपने साथ ले जा रही थी. गीता ने अनिता की मां को इसके लिए 9 हजार रुपए भी दिए थे.

जब इस बात की जानकारी ग्रामीणों को हुई तो भारी संख्या में ग्रामीण यहां पहुंच गए और उन्होंने गीता से पहले अपने साथ ले जाए गए नीरा, ललिता व सुमित्रा नामक युवतियों के संबंध में पूछताछ की. देखते ही देखते ग्रामीणों का विरोध उग्र हो गया. घटना की सूचना पाली पुलिस को दी गई. पाली पुलिस ने गीता देवांगन, संजय कश्यप व एके राजू को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है. मामले का खुलासा हुआ है. पाली पुलिस चारो आरोपी को मामला दर्ज कर ग्रिफ्तार कर विवेचना शुरू कर दी है.

Tags: , , , ,