छत्तीसगढ़: उद्योगों पर मेहरबान सरकार

Thursday, August 11, 2016

A A

मीटर घोटाला

रायपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ सरकार जनता के बजाये उदयोगों पर ज्यादा मेहरबान है. तभी तो बुधवार को छत्तीसगढ़ सरकार ने आम जनता तथा किसानों को बिजली के बिल में प्रति यूनिट मात्र 37 पैसे की छूट दी है. दूसरी तरफ मिनी स्टील प्लांट तथा री-रोलिंग मिलों को बिजली की दर में प्रति यूनिट 1.40 रुपये की छूट दी है.

घरेलू उपभोक्ताओं तथा किसानों को दी जाने वाली छूट के कारण छत्तीसगढ़ सरकार को क्रमशः 95.61 करोड़ रुपये तथा 94.78 करोड़ रुपयों का अनुदान देना पड़ रहा है. इस तरह से घरेलू उपभोक्ताओं तथा किसानों के लिये कुलमिलाकर 190.39 करोड़ रुपयों का अनुदान देना पड़ रहा है.

वहीं, उदयोगों को दी जाने वाली राहत के कारण सरकार को 355 करोड़ रुपयों का अनुदान देना पड़ रहा है.

जहां तक घरेलू उपभोक्ताओं की संख्या है, वह है 40 लाख तथा किसानों की संख्या है 3.46 लाख. इस तरह से 43.46 लाख लोगों को 190.39 करोड़ का अनुदान दिया जा रहा है तो दूसरी तरफ करीब 200 मिनी स्टील प्लांट को 355 करोड़ रुपयों का अनुदान दिया जा रहा है. जाहिर है कि बिजली के बिल के राहत के मामले में आम जनता के बजाये उद्योगों को वरीयता दी गई है.

Tags: , , ,