लड़कियों की मेडिकल-इंजीनियरिंग शिक्षा फ्री

Sunday, May 17, 2015

A A

छात्राएं

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के सरकारी मेडिकल-इंजीनियरिंग कालेजों में लड़कियों को निःशुल्क शिक्षा मिलेगी. उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ में गरीब परिवारों की बेटियों को शासकीय कॉलेजों में बी.ए., बी.एस-सी और बी. कॉम तक निःशुल्क शिक्षा की सुविधा दी है. अब उन्हें मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में निःशुल्क शिक्षा मिलेगी.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शनिवार को देवभोग की जनसभा में उर्मिला सोनवानी को विशेष रूप से सम्मानित किया, जिन्होंने कुछ दिनों पहले शादी के समय शराबी दूल्हे को वापस लौटा दिया था. डॉ. रमन सिंह ने उर्मिला के साहस की प्रशंसा करते हुए इसे अन्य बेटियों के लिए भी प्रेरणादायक बताया.

लोक सुराज की जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने बालिकाओं की शिक्षा पर विशेष रूप से बल दिया. उन्होंने कहा कि बेटियां शिक्षित होंगी, तो परिवार भी शिक्षित होंगे. डॉ. रमन सिंह ने राज्य में बालिकाओं के बेहतर भविष्य के लिए संचालित नोनी सुरक्षा योजना पर भी प्रकाश डाला. उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों में दो बेटियों के जन्म पर एक माह के भीतर उनका पंजीयन किया जाएगा और प्रत्येक नवजात कन्या के नाम पर राज्य सरकार हर साल पांच हजार रूपए पांच वर्ष तक जमा करेगी. बेटी 18 साल की होने पर उसे एक लाख रूपए मिलेंगे. वह फैसला करेगी कि इस राशि का कैसा उपयोग किया जाना है. उसके आगे की पढ़ाई के लिए भी यह राशि उसके काम आ सकती है.

Tags: , , ,