छत्तीसगढ़: किसान आत्महत्या की जांच होगी

Thursday, October 1, 2015

A A

आदेश

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के कोण्डागांव में दो किसानों द्वारा आत्महत्या करने की जांच बस्तर कमिश्नर दिलीप वासनीकर करेंगे. दोनों मौतों की जांच तीन बिन्दुओें पर की जाएगी, जिनमें – मृत्यु/आत्महत्या कब और किन परिस्थितियों में हुई, मृत्यु/आत्महत्या का कारण और इसके लिए जिम्मेदार/दोषी का विवरण.

बस्तर राजस्व संभाग के कमिश्नर दिलीप वासनीकर शनिवार तीन अक्टूबर को सवेरे 11 बजे कोण्डागांव कलेक्टोरेट पहुंचकर दोनों मामलों की जांच शुरू करेंगे.

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के कोण्डागांव जिले में दो किसानों द्वारा आत्महत्या किए जाने की घटनाओं को गंभीरता से लिया है. उन्होंने दोनों किसानों दिलीप मंडावी और मानसिंह के निधन गहरा दुःख व्यक्त करते हुए दोनों प्रकरणों की जांच के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री के निर्देश पर सामान्य प्रशासन विभाग ने बुधवार यहां मंत्रालय से आदेश जारी कर बस्तर राजस्व संभाग के कमिश्नर दिलीप वासनीकर को जांच अधिकारी नियुक्त किया है.

कमिश्नर श्री वासनीकर ने कहा है कि जांच के लिए उनके द्वारा तीन अक्टूबर को निर्धारित समय पर कलेक्टोरेट कोण्डगांव में की जाने वाली सुनवाई के समय सर्वसंबंधित व्यक्तियों, शासकीय अधिकारियों और कर्मचारियों तथा प्रकरण के बारे में अपना पक्ष रखने के इच्छुक व्यक्तियों से उपस्थित होकर साक्ष्य देने का आग्रह किया है.

जांच अधिकारी ने इस सिलसिले में कलेक्टर और जिला दण्डाधिकारी कोण्डागांव को सुनवाई की तारीख के संबंध में अपने स्तर पर प्रचार-प्रसार करने, आम सूचना जारी करने तथा साक्ष्य के लिए सर्वसंबंधितों को बुलाने के निर्देश दिए हैं.

जांच अधिकारी ने इस आशय का सूचना पत्र कोण्डागांव के कलेक्टर कार्यालय, पुलिस अधीक्षक कार्यालय और अनुविभागीय दण्डाधिकारी तथा तहसील कार्यालय सहित ग्राम पंचायतों के नोटिस बोर्ड पर भी प्रदर्शित करने के लिए भी कहा है. उन्होंने कलेक्टर कोण्डागांव और पुलिस अधीक्षक कोण्डागांव को प्रकरणों की जांच से संबंधित सभी सुसंगत दस्तावेज प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए हैं.

Tags: , , , , ,