शाला प्रवेशोत्सव से गायब शिक्षक

Thursday, June 19, 2014

A A

स्कूल

रायगढ़ | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के सारंगढ़ तथा पुसौर ब्लाक के 22 शिक्षक शाला प्रवेशोत्सव के दौरान ड्यूटी से गायब मिले हैं. हैरत की बात है कि एक तरफ छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शिक्षा को बढ़ावा देने के लिये बच्चों को स्कूल भेजने की अपील की जा रही है वहीं निरीक्षण के दौरान, शिक्षक स्वंय नदारत मिले. इससे छत्तीसगढ़ में शिक्षा का स्तर तथा फैलाव कैसे होगा इसकी कल्पना की जा सकती है.

गौरतलब है कि जब छत्तीसगढ़ के सारंगढ के एसडीएम नीलेश क्षीरसागर आकस्मिक रूप से शाला प्रवेशोत्सव का जायजा लेने लगभग आधा दर्जन शालाओं में पहुंचे उस दौरान 20 शिक्षक ड्यूटी से अनुपस्थित पाए गए. उसी तरह से जिला शिक्षा अधिकारी मनीष श्रीवास्तव ने पुसौर ब्लाक की गोहडीडीपा तथा खोखरा प्राथमिक शाला के निरीक्षण के दौरान 2 शिक्षकों को अनुपस्थित पाया.

जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि सारंगढ एसडीएम क्षीरसागर ने 16 जून को आकस्मिक भ्रमण के दौरान ग्राम कुम्हारी, पाठ एवं रक्शा की प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं के निरीक्षण के दौरान शिक्षक तेजराम साहू, शिवलाल सिदार, सोमेश्वरी पैंकरा, अशोक चंद्रा, गुरूशरण चंद्रा, जयसिंह सिदार, टिकेश्वर सिदार, शरद सिदार, नारायण प्रसाद, जुगल कुमार, श्रीमती सुधा, गंगाराम बंजारे, कन्हैया लाल साहू, रूपधर सुमन, गोवर्धन सोनी, नरेश प्रसाद सुमन, दिनेश प्रसाद, नरसिंह श्रीवास, गेंदलाल जाटवर एवं कु. रंजना को ड्यूटी से गैर हाजिर पाया. उक्त सभी शिक्षकों का उक्त दिवस नो वर्क नो पे किया गया है.

इसी प्रकार से निरीक्षण के दौरान प्राथमिक शाला गोहडीडीपा की सहायक शिक्षक श्रीमती बसंती भगत एवं प्राथमिक शाला खोखरा के सहायक शिक्षक पंचायत युगेश पटेल बिना आवेदन ड्यूटी से अनुपस्थित पाए गए. उक्त दोनों शिक्षकों का अवैतनिक अवकाश स्वीकृत करने के लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पुसौर को पत्र भेजा गया है.

Tags: , , , , ,