छत्तीसगढ़ में खनन का कंप्यूटराइजेशन

Wednesday, May 28, 2014

A A

रेत उत्खनन

रायपुर| संवाददाता: छत्तीसगढ़ में खनन के कामों का कंप्यूटराइजेशन किया जाएगा. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मंत्रालय में इस संबंध में प्रस्तुतिकरण देखने के बाद कम्प्यूटरीकरण कार्य को मंजूरी प्रदान की. मुख्यमंत्री ने कहा कि कम्प्यूटरीकरण होने से खनिज विभाग के काम-काज में जहां तेजी आएगी, वहीं राजस्व में भी उल्लेखनीय वृद्धि होगी.

गौरतलब है कि गुजरात और ओडीशा में पहले से ही यह काम किया जा चुका है. ओडिशा में इस कार्य को सफलतापूर्वक संचालित करने वाली निजी कम्पनी ने आज मंत्रालय में प्रस्तुतिकरण के जरिए यहां प्रस्तावित व्यवस्था की विस्तृत जानकारी दी. अतिरिक्त मुख्य सचिव डी.एस.मिश्रा, प्रमुख सचिव जनसम्पर्क अमन कुमार सिंह और खनिज विभाग के सचिव सुबोध कुमार सिंह भी इस अवसर पर उपस्थित थे.

छत्तीसगढ़ में विभिन्न प्रकार की खदानों से राज्य सरकार को लगभग 3200 करोड़ रुपए का राजस्व मिलता है. वाणिज्यिक कर के बाद सबसे ज्यादा राजस्व राज्य सरकार को खनिज साधन विभाग से मिलता है. कम्प्यूटरीकरण के जरिए इन सभी खदानों के प्रबंधन में सहूलियत होगी. योजना के तहत खनिज चेकपोस्ट भी कम्प्यूटरीकृत होंगे. खदानों के आवंटन के लिए आवेदन प्राप्ति से इसके संपूर्ण निराकरण तक की प्रक्रियाएं जैसे उत्पादन, परिवहन, विकास, टी.पी आदि सभी कार्य ऑनलाईन होंगे.

अधिकारियों ने बताया कि इस व्यवस्था के लागू होने से खनिजों के अवैध खनन और परिवहन पर भी अंकुश लगेगी. मुख्यमंत्री ने विभागीय कार्यों में पारदर्शिता लोने के लिए योजना को जरूरी बताते हुए इस कार्य की मंजूरी प्रदान की.

Tags: , , , , , ,