छत्तीसगढ़: ABVP आगे NSUI पीछे

Wednesday, August 26, 2015

A A

छात्रसंघ चुनाव

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के छात्रसंघ चुनाव में रायपुर-बिलासपुर में अभाविप तथा बाकी स्थानों में एनएसयूआई ने अपना दबदबा दिखाया. सत्तारूढ़ भाजपा के छात्रसंघ, अभाविप एकतरफा जीत के दावे को बरकरार न रख पाई. अभाविप न तो मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के विधानसभा क्षेत्र राजनांदगांव, न ही उनके गृहनगर कवर्धा में अपनी साख बचा पाई. यहां एनएसयूआई छाई रही.वहीं छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने तंज कसा कि छात्र संघ के चुनाव में अभाविप नहीं सरकार चुनाव लड़ रही थी. अभाविप तो केवल मुखौटा है. सरकार के चुनाव लड़ने के बावजूद एनएसयूआई ने एबीवीपी नहीं बल्कि सरकार को हराया. उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के 640 में से 347 पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और 314 पर एनएसयूआई ने जीत का दावा किया है.

रायपुर
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भाजपा के छात्र संगठन अभाविप ने छत्तीसगढ़, साइंस, डिग्री गर्ल्स जैसे बड़े कॉलेजों पर कब्जे के साथ रायपुर के 17 में से 14 पर झंडा लहराया है. कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई ने रायपुर के ही सबसे बड़े दुर्गा कॉलेज में कब्जा कर लिया है. रायपुर के कुल 44 कॉलेजों में से अभाविप ने 24 कॉलेजों कब्जा जमाया, वहीं 22 कॉलेजों में एनएसयूआई के पदाधिकारी चुने गए हैं.

बिलासपुर
बिलासपुर शहर के सबसे बड़े सीएमडी कॉलेज सहित चारों कॉलेजों में अभाविप के उम्मीदवार ने जीत दर्ज की है. यही नहीं पूरे जिले में भी अभाविप का दबदबा कायम रहा. वहीं, दो कॉलेजों में एनएसयूआई के उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की.

दुर्ग-नांदगांव
दुर्ग के शासकीय साइंस कॉलेज दुर्ग, कल्याण कॉलेज भिलाई, रूंगटा इंजीनियरिंग कॉलेज जैसे बड़े कॉलेज में एनएसयूआई ने जीत दर्ज की है. एनएसयूआई ने 13 कॉलेजों में अध्यक्ष पद में जीत दर्ज की है. शहर के मुख्य दिग्विजय कॉलेज के त्रिकोणीय मुकाबले में एनएसयूआई को बड़ी जीत मिली है.

रायगढ़
रायगढ़ जिले के धरमजयगढ़, सारंगढ़ और खरसिया में जहां एनएसयूआई ने जीत हासिल की वहीं घरघोड़ा में अभाविप ने जीत दर्ज की. सारंगढ़ और खरसिया में एनएसयूआई को मिली जीत को महत्वपूर्ण इस लिए भी माना जा रहा है क्योंकि यहां पर अभाविप और भाजपा का दबदबा रहा है.

कोरबा
कोरबा में सबसे ज्यादा कश्मकश शासकीय पीजी कॉलेज में देखने को मिला, जहां त्रिकोणीय मुकाबले में एनएसयूआई व अभाविप को शिकस्त देते हुए छात्र एकता पेनल एक बार फिर बाजी अपने नाम कर ली है. कोरबा जिले के कुल 19 में सर्वाधिक 7 कॉलेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जीत हासिल की है. एनएसयूआई का 4 कॉलेज में दबदबा रहा.

धमतरी
जिले के 3 बड़े शासकीय महाविद्यालयों पीजी कालेज धमतरी, पीजी कॉलेज कुरुद और शासकीय कॉलेज नगरी में एनएसयूआई ने कब्जा जमाया. पीजी कॉलेज धमतरी में एनएसयूआई अध्यक्ष का पैनल एकतरफा जीतकर आया. 8 कॉलेजों में चुनाव नहीं हुए. जहां अध्यक्ष निर्विरोध निर्वाचित हुए. जिनमें से लगभग सभी स्वतंत्र पैनल हैं. इस तरह जिले के 3 महाविद्यालयों में अभाविप को पछाड़कर एनएसयूआई ने फतह हासिल की है.

महासमुंद
एमवीपीजी कॉलेज महासमुंद में सक्रिय छात्र संगठन ने जीत हासिल की जबकि माता कर्मा कॉलेज और शांत्रि बाई कॉलेज में एबीवीपी के उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए. बागबाहरा कॉलेज में एनएसयूआई, पिथौरा कॉलेज, बसना, और बलौदा कॉलेज अभाविप ने जीत दर्ज की जबकि शासकीय कॉलेज सरायपाली में स्वतंत्र पैनल जीता. रामचंडी कॉलेज सरायपाली में एनएसयूआई की जीत हुई.

अंबिकापुर
सरगुजा संभाग के सबसे बड़े पीजी कॉलेज के प्रतिष्ठापूर्ण चुनाव में एनएसयूआई के पूरे पैनल ने धमाकेदार जीत दर्ज की. शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय, श्री सांई बाबा आदर्श महाविद्यालय, केआर कॉलेज में अभाविप ने कब्जा जमाया. होलीक्रास महिला महाविद्यालय में एनएसयूआई ने जीत हासिल की.

जगदलपुर
जगदलपुर शहर के पीजी कॉलेज में अभाविप और एनएसयूआई दोनों को हार का सामना करना पड़ा. यहां हॉस्टल पैनल ने जीत दर्ज की. हालांकि संभाग के कॉलेजों में अभाविप ने बढ़त बनाई है. मंगलवार को घोषित नतीजों के अनुसार कांकेर जिले को छोड़कर संभाग के 20 कॉलेजों में से 10 में अभाविप समर्थित पेनल ने कब्जा जमाया है.

Tags: , , , , , ,