बीजापुर: किसान हुआ समृद्ध

Thursday, September 8, 2016

A A

बीजापुर का किसान

बीजापुर | समाचार डेस्क: बीजापुर के किसान ने 12 महीने सब्जी का उत्पादन कर अपनी आर्थिक स्थिति सुधार ली है. 5 एकड़ का भू-स्वामी बोगाम कटिया पारम्परिक धान की खेती के साथ ही अब बारह महीने सब्जी के खेती कर अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत कर सफल कृषक के रूप मे अपनी पृथक पहचान बना ली है.

बोगाम कटिया उसूर ब्लाक जिला बीजापुर के ग्राम चेरामंगी का निवासी है. अपनी पैतृक सम्पति के तहत उसके हिस्से 5 एकड़ भूमि बंटावारा में मिला. 5 एकड़ में वह 4 एकड़ में खरीफ के फसल धान का उत्पादन करता है और एक एकड़ में प्रयोग के तौर पर प्रारंभ किये गये साग-सब्जी के तहत् टमाटर, बैंगन, करेला, बरबट्टी, लालभाजी, पालक, आलू और धनियां की खेती करता है.

खेत और बाड़ी के मेड़ो पर आम, अमरूद और केले के पौधें लगा रखी है. इससे उसे अतिरिक्त आय प्राप्त होने लगी है. वहीं सब्जी के भरपूर उत्पादन से वह समृद्ध हो रहा है.

कृषक बोगाम का कथन है कि जब वे सिर्फ धान की खेती करता था तब उसे ज्यादा फायदा नहीं हो पाता था क्योंकि जितना खर्च करता उसके लागत की अपेक्षा आमदनी नहीं के बराबर होने के कारण अन्य खर्च वहन करने में उसे काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था.

आधा एकड़ भूमि में सब्जी लगाकर प्रायोगिक रूप से प्रयास किया, सब्जी उत्पादन सोच से अधिक और विपुल उत्पादन ने जहां आर्थिक संबल प्रदान किया वहीं कड़ी मेहनत का प्रतिफल सुख और संतोष प्राप्त हुआ. मनोबल को ताकत मिली परिवार के सदस्यों का सहयोग मिला और एक एकड़ मे सब्जी लगाना प्रारंभ किया पानी की उपलब्धता के आधार पर ही एक एकड़ में सब्जी की फसल नियमित लेने लगा.

उद्यानिकी विभाग से समय-समय पर अच्छे सब्जी के बीज मिलता है. वहीं तकनीकि सहायता दी जा रही है. अब भविष्य में ट्यूबवेल कराने की सोची है जिससे ड्रिप विधि से सिंचाई हो सके एक-एक बूंद पानी का इस्तेमाल करने का विचार है.

कृषक बोगाम कटिया वर्ष में 50 से 60 हजार रूपये की आमदनी सब्जी से प्राप्त करने लगा है. वहीं पारम्परिक धान भी खेती 4 एकड़ में कमाई कर रहा है. कृषक बोगाम की स्थिति में परिवर्तन आने लगा है. बोगाम कटिया ने बताया की उनके 3 लड़के 2 लड़कियां और पति-पत्नी के साथ परिवार में सात सदस्य है. तीन उड़के पोटाकेबिन में पढ़ने लगे है. उसकी माली हालत में प्रतिदिन सुधार आने लगा

गांव के अन्य लोगो ने बोगाम कटिया की तरह बनने का प्रयास करने लगे है. लोग उनसे सलाह मशविरा भी करने लगे है. बोगाम कटिया एवं परिवार के लोग खुशहाल और समृद्ध हो कर सामाजिक प्रतिष्ठा पूर्वक जीवनयापन करने लगा है.

Tags: , , ,