पुलिस ज्यादातियों के खिलाफ रैली

Tuesday, October 4, 2016

A A

bastar rally

कांकेर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के कांकेर में आदिवासियों पर हो रहे पुलिसिया जुल्म के खिलाफ सोमवार को रैली निकाली गई. यह रैली दंतेवाड़ा में दो स्कूली छात्रों को कथित एनकाउंटर में मार दिये जाने के खिलाफ आदिवासी छात्र-छात्राओं ने निकाली थी. इसमें पीजी कॉलेज के छात्र-छात्रायें, गर्ल्स आईटीआई की छात्रायें तथा गर्ल्स कॉलेज की छात्रायें शामिल थी.

सोमवार दोपहर नरहरदेव मैदान से रैली निकली जो कलेक्ट्रेट तक पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुये पहुंची. जहां पर एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की मांग की गई.

आदिवासी छात्र-छात्राओँ का कहना है कि राज्य में आदिवासी छात्र-छात्रायें सुरक्षित नहीं हैं. उन्हें नक्सली बताकर मौत के घाट उतारा जा रहा है. दंतेवाड़ा के पोटा केबिन के दो छात्रों की मौत से आदिवासी छात्र-छात्राओँ में खासा रोष है.

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले संवाददाताओं को संबोधित करते हुये छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा था, “ दो निर्दोष नाबालिग आदिवासी छात्रों की पुलिस द्वारा की गई हत्या को नक्सली एनकाउंटर बताना इसका नया उदाहरण है.“

उन्होंने कहा था कि “मारा गया बच्चा सोनकू राम कश्यप महज 16 साल का था जबकि दूसरा बच्चा बिजलू कश्यप लगभग 19-20 साल का था. बच्चों के परिजनों से मिली जानकारी के आधार पर उन्होंने कहा कि दोनों बच्चों के माता पिता के पास इस बात से पर्याप्त सबूत हैं कि दोनों छात्र थे और नक्सली संगठनों से उनका दूर दूर तक कोई नाता नहीं था.”

Tags: , , , , , , , , ,