छत्तीसगढ़: 5 मानव तस्कर गिरफ्तार

Wednesday, December 21, 2016

A A

छत्तीसगढ़ रोजगार गारंटी

जगदलपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के बस्तर से पुलिस-प्रशासन ने पांच मानव तस्करों को गिरफ्तार किया है. जब ये मानव तस्कर बस्तर के 146 आदिवासियों को तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश तथा अन्य राज्यों में ले जा रहें थे तब उन्हें गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस-प्रशासन ने दबिश देकर जगदलपुर बस स्टैंड से 81 तथा दरभा में बस रुकवाकर 65 ग्रामीणों को मुक्त कराया है. मिली जानकारी के अऩुसार इनसे ज्यादा मजदूरी का लालच देकर अन्य राज्यों में ले जाया जा रहा था. गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के भोल-भाले ग्रामीणों को ज्यादा मजदूरी के बहाने दिगर राज्यों में ले जाया जाता है. जहां पर उन्हें बंधक बनाकर रखा जाता है.

पुलिस ने कूकारान के बामनराम कोडियाम, ओडिशा के मीटू, करेकोट के सत्तू व ओडिशा का ठीलू है.

भारत सरकार द्वारा जारी सामाजिक-आर्थिक एवं जाति जनगणना 2011 के आंकड़ों के अनुसार छत्तीसगढ़ में ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 45 लाख 40 हजार 999 परिवार निवासरत हैं.

छत्तीसगढ़ से 5हजार लड़कियों की तस्करी

मानव तस्करी के शिकार छत्तीसगढ़ के लाल

कैद हैं 400 लड़कियां- छत्तीसगढ़ पुलिस

मानव तस्करी विश्वव्यापी समस्या- रमन

इसके अनुसार छत्तीसगढ़ के गांवों में महज 3 फीसदी परिवारों का कोई एक सदस्य माह में 10 हजार रुपये से ऊपर कमाता है. महज 1 फीसदी परिवार के पास मशीनीकृत कृषि के उपकरण हैं.

केवल 1.5 फीसदी परिवारों के पास सिंचाई के एक उपकरण तथा ढ़ाई एकड़ या उससे ज्यादा की सिंचित जमीन है. सरकारी आकड़ें चीख-चीखकर ऐलान कर रहें हैं कि बीते 16 सालों में छत्तीसगढ़ का जो विकास हुआ है वह गांवों तक नहीं पहुंच सका है. जाहिर है कि ऐसे में मानव तस्करों के छत्तीसगढ़ के गांवों से ग्रामीणों को बरगलाकर दिगर राज्यों में ले जाना आसान काम है.

Tags: , , , , , ,