कुपोषण रोकने बच्चों को कृमिनाशक

Wednesday, July 30, 2014

A A

स्कूल

दंतेवाड़ा | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में 8 अगस्त को समस्त 6वीं से 12वीं के बच्चों को एक साथ कृमिनाशक दवा पिलाई जाएगी. गौरतलब है कि जिले में कुपोषण दूर करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा विशेष अभियान चलाया जा रहा है.

इस अभियान के अंर्तगत आगामी आठ अगस्त को बाल आरोग्य दिवस का आयोजन किया जाएगा. यह छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिला प्रशासन की अभिनव पहल है. इस दिन छठवीं से बारहवीं तक सभी विद्यालयों के किशोर-किशोरियों को एक साथ कृमिनाशक दवा पिलाई जाएगी.

इसके अलावा जिले में साप्ताहिक आयरन एवं फोलिक एसिड अनुपूरण कार्यक्रम के तहत छठवीं से बारहवीं कक्षा तक के स्कूल के बच्चों को सप्ताह में एक निश्चित दिन आयरन फोलिक एसिड प्रदान किया जाता है. इसके साथ ही इस कार्यक्रम के तहत अगस्त और फरवरी माह में कृमिनाशक दवा पिलाई जाती है.

ज्ञात्वय रहे कि कृमि से बच्चों के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है तथा उनमें कुपोषण बढ़ने का यह भी एक कारण है. अकसर होता यह है कि कृमि एक बच्चे से दूसरे बच्चों में फैल जाता है.

इसको रोकने के लिये चिकित्सा शास्त्र में कहा गया है कि किसी भी परिवार के सभी सदस्यों या इलाकों के सभी बच्चों को एक ही दिन कृमिनाशक दवा का सेवन कराया जाये. जिससे कृमि तथा उसके अंडे नष्ट हो जाते हैं.

Tags: , , , , ,