छत्तीसगढ़: बंद से जनजीवन प्रभावित

Wednesday, November 12, 2014

A A

रायपुर-घड़ी चौक

रायपुर | एजेंसी: नसबंदी कांड के विरोध में कांग्रेस के छत्तीसगढ़ बंद के असर से जन जीवन प्रभावित हुआ. बंद का सबसे ज्यादा असर राजधानी तथा न्यायधानी में देखा जा रहा है. गौरतलब है कि अब तक छत्तीसगढ़ के तखतपुर के पेंडारी में शनिवार को किये गये नसबंदी के ऑपरेशन से मरने वालों की संख्या 13 तक पहुंच गई है. इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस पार्टी की राज्य इकाई द्वारा बुधवार को आहूत राज्यव्यापी बंद से जनजीवन प्रभावित हुआ है. राजधानी सहित सूबे में अधिकांश स्थानों पर बंद का असर देखा गया है. बंद को छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ कामर्स का समर्थन मिलने से इसका खासा असर देखा जा रहा है.

रायपुर, बिलासपुर में बच्चों के स्कूल बंद से प्रभावित हैं. कुछ जगहों पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने परिवहन भी बाधित कर रखा है. बंद के चलते आम जन जीवन प्रभावित हुआ है.

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा है कि मामला गंभीर है. उन्होंने कहा कि इसके लिए भाजपा सरकार जवाबदेह है.

बघेल ने कहा, “पूरे प्रदेश में राज्य सरकार के खिलाफ माहौल है. इसे ध्यान में रखते हुए ही छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान किया गया है, जिसमें सभी का सहयोग मिल रहा है.”

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा पिछले शनिवार को आयोजित नसबंदी शिविर में 83 महिलाओं की नसबंदी की गई थी.

नसबंदी के बाद महिलाओं की तबीयत बिगड़ने लगी तो सोमवार को उन्हें बिलासपुर जिला अस्पताल भर्ती कराया गया, जहां मंगलवार शाम तक कम से कम 13 महिलाओं की मौत हो गई. कई महिलाओं की स्थिति अभी नाजुक बनी हुई है. वहीं, रायपुर में कई कांग्रेसी नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

Tags: , , , , , , , ,