छत्तीसगढ़: बैंक डकैत पकड़े गये

Saturday, December 24, 2016

A A

छत्तीसगढ़: बैंक डकैत पकड़े गये

अंबिकापुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर के ग्रामीण बैंक में डकैती करने वाले पकड़े गये हैं. अंबिकापुर के बैंक में डकैती करवाने का मुख्य सूत्रधार निगम आयुक्त का ड्राइवर निकला है पुलिस ने अंबिकापुर नगर निगम के आयुक्त के ड्राइवर अशोक रावत को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने कुल 3 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है. अशोक रावत से मिली जानकारी के अनुसार वारदात में 7 लोग शामिल थे. पुलिस ने 3 डकैतों के पास से 89 हजार 600 रुपये बरामद किये हैं.

12 दिसंबर को जब अंबिकापुर के ग्रामीण बैंक में डकैती का खुलासा हुआ तो पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी फुटेज की जांच की. जिससे इस बात का पता चला कि अशोक रावत की गाड़ी वहां पर आई थी. वहीं राकेश रावत के साथ संदिग्धों के आने की खबर भी मिली. जब पुलिस ने निगम के इस ड्राइवर को पकड़कर थाने लाया तो डकैती का खुलासा हुआ.

गौरतलब है कि ग्रामीण बैंक के 12 लॉकरों को काटकर उसमें रखे गहने तथा कैश उड़ा दिये गये थे. लॉकरों को गैस कटर से काटा गया था.

निगम के ड्राइवर अशोक रावत ने पुलिस को बताया कि मध्यप्रदेश के सिंगरौली में रहने वाले ड्राइवर राकेश पाठक ने डकैती की पूरी प्लानिंग बनाई थी. अशोक रावत से बैंक डकैती में से हिस्सा देने की बात हुई थी. अशोक रावत ने ही अपने बाइक में बैठाकर राकेश पाठक को आसपास के बैंकों को दिखाया था.

राकेश पाठक को सुनसान गली में होने के कारण अंबिकापुर का ग्रामीण बैंक सुरक्षित लगा तथा फिर इसकी रेकी की गई. डकैतों ने 9 दिसंबर को ही बैंक का ताला तोड़कर नया ताला लगा दिया था. वे रात को आकर लॉकर काटते तथा सुबह उसमें ताला लगाकर चले जाते थे.

इस बीच अशोक रावत 11 व 12 दिसंबर को नगर निगम के आयुक्त को लेकर दुर्ग गया हुआ था. परन्तु उससे पहले उसने 9 एवं 10 दिसंबर की रात बैंक में प्रवेश किया था.

पुलिस फिलहाल बाकी के 4 जकैतों की पत्तासाजी कर रही है. मालूम चला है कि इन्होंने पटना जाकर वहां माल का बंटवारा किया था. गहनों को बेचने के बाद उसका बंटवारा करने की बात तय हुई थी.

Tags: , , , ,