छत्तीसगढ़: 30 हज़ार ईवीएम का परीक्षण

Tuesday, March 4, 2014

A A

निर्वाचन आयोग

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव की तैयारियां पूरी गति से चल रही हैं. 30 हजार से अधिक इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) के परीक्षण का कार्य पूरा होने है. परीक्षण का कार्य जिला स्तर पर किया जा रहा है. मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुनील कुजूर ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों का परीक्षण अंतिम चरण में है.

उन्होंने कहा कि सभी जिलों में मास्टर ट्रेनरों द्वारा निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों-कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है. भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सभी जिलों में मीडिया मॉनिटरिंग एवं सर्टिफिकेशन समिति, वीडियो सर्विलांस टीम आदि गठित की जा चुकी है और उन्हे प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है.

कुजूर ने बताया कि निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा होने के बाद सभी मतदान केंद्रों में शिविर आयोजित कर पूरी मतदाता सूची चस्पा की जाए. निर्वाचन के इतिहास में यह पहली बार होगा. उन्होंने बताया कि मतदान केंद्रों में संक्षिप्त पुनरीक्षण 2014 के बाद प्रकाशित की गई अंतिम मतदाता सूची चस्पा की जाएगी. इसके अलावा नए शामिल किए गए नाम, संशोधन और हटाए गए नामों की सहायक सूची भी प्रदर्शित की जाएगी.

उन्होंने बताया कि राज्य के मतदाता जिनके पास मतदाता परिचयपत्र है, वे मुख्य निर्वाचन अधिकारी की वेबसाइट ‘सीईओछत्तीसगढ़ डॉट एनआईसी डॉट इन’ में जाकर या संबंधित जिलों के तहसील कार्यालय, अनुविभागीय कार्यालयों में जाकर अपना नाम अवश्य देख लें ताकि आगामी चुनाव में वे मताधिकार से वंचित न हों.

जिन मतदाताओं के नाम सूची में नहीं है उन्हें उसी समय फार्म-6 भरकर मतदान केंद्र में जमा करने की सुविधा रहेगी. बूथ लेवल अधिकारी द्वारा उस दिन मतदाता सूची का पठन भी किया जाएगा.

भारत निर्वाचन आयोग ने मतदाता सूची की निगरानी के संबंध में प्रतिदिन निगरानी करने का तंत्र बनाने के निर्देश दिए हैं. यह निगरानी लोक सभा निर्वाचन के मतदान के दिन तक जारी रहेगी.

उन्होंने बताया कि मतदाता सूची में नाम जोड़ने, संशोधन और नाम हटाने का कार्य अनवरत जारी है. लेकिन मतदाता सूची से नाम हटाने का कार्य चुनाव की घोषणा हो जाने के बाद नही किया जा सकेगा. किसी भी तरह की शिकायत या समाधान के लिए टोल-फ्री नंबर 1950 पर भी संपर्क किया जा सकता है.

Tags: , , ,